चटपटी मसालेदार काली गाज़र की खट्टी कांजी जो कि बहुत स्वादिष्ट और पाचक होती है।

उत्तर भारत में होली के अवसर पर कई घरों में कांजी बनाने का चलन है फागुनी मौसम में रंगों की बहार के साथ यह चटपटी कांजी बहुत स्वादिष्ट लगती है पिछले लेख में मैंने आपको कांजी के वड़े बनाना बताया था कांजी स्वास्थ्य के लिए काफी न्यूट्रीशियस होती है। गाजर की कांजी बहुत ही स्वादिष्ट और पाचक होती है खाना खाने से पहले कांजी आपकी भूख को बढ़ा देती है  




आप इसका उपयोग गर्मी और सर्दी दोनों मौसम में कर सकते हैं, गर्मियों में लोग खाने से ज्यादा पीने वाली चीजें पसंद करते हैं इस मौसम में गाजर की कांजी का मसालेदार स्वाद आपको तरोताजा कर देगा इस लेख में हम स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए, गाजर की कांजी बनाने का आसान तरीका आपको बता रहे है जिसे आप अपने घर पर आसानी से बना सकते हैं। राई को चढ़ने में थोड़ा समय लगता है तो बेहतर होगा की आप कांजी को होली के 2-4 दिन पहले ही बना लें


तो फिर देर किस बात की दोस्तों, आइये बनाते है यह लोकप्रिय व्यंजन...........

सामग्री:

काली गाजर250 ग्राम
पानी 6 कप
पिसी राई 1½ बड़ा चम्मच
नमक 2 टी स्पून
पिसी लाल मिर्च 1½ छोटा चम्मच (स्वादानुसार)

विधि:

- गाजर को छील कर, अच्छी तरह धो लीजिये पानी सुखाकर 1 इंच के टुकड़े काट लीजिये

- फिर किसी बर्तन में पानी को उबालकर उसमें कटी हुई गाजर को डाल दीजिये और गैस बन्द करके गाजर को ढककर 10 मिनिट के लिये रख दीजिये

- गाजर से पानी को निकाल कर, एक प्याले में गाजर के टुकड़े डालिये, नमक, लाल मिर्च, और पिसी राई मिला दीजिये

- इसके बाद एक बड़े जार में पानी लीजिए और उसमें गाजर मिले मसाले के पेस्ट को डालिए और खूब अच्छे से मिलाइए

- अब ढक्कन लगाकर इसे खट्टा होने के लिए धूप में रखिए राई का पानी चढ़ने (खट्टा होने में) में 2-4 दिन लगते हैं

- बन जाने के बाद इसे सर्व करें। कांजी का तैयार होना बनना तब माना जाता है, जब उसका पानी बहुत ही स्वादिष्ट खट्टा हो जाये। 


कुछ सुझाव:

राई का पानी (कांजी) खट्टा होने में 2-4 दिन लगते हैं, यह मौसम पर निर्भर करता है।

- यदि कांजी के कन्टेनर को धूप में रखें तो कांजी 3 दिन में ही तैयार हो जाती है, लेकिन अगर मौसम ठंडा है तब इसको बनने में 4-5 दिन लग जाते हैं

- कांजी के बन जाने के बाद उसे आप फ्रिज में रख दीजिये वह ओर अधिक खट्टी नहीं होगी जब भी आपका मन हो, 15 दिनों तक, स्वादिष्ट कांजी फ्रिज से निकालिये और पीजिये

- कांजी, गाजर (लाल या काली) और चुकन्दर से भी बनाया जाता है।















Tags: benefits of gajar ki kanji, how to make gajar ki kanji, kali gajar ki kanji recipe in hindi, gajar ki kanji ke fayde, gajar ki kanji drink, gajar ki kanji banane ka tarika








____
  • Download 99Advice app
  • 99advice.com provides you all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."
    Share To:

    Sumegha Bhatnagar

    Post A Comment:

    0 comments so far,add yours