99advice search

Top News

Wonderful Health Benefits Of Black Tea



In the world, Black tea is one of the very most beloved drinks apart from water and 70-80% of people are consuming it. If you really wish to stay fit then start your day with a cup of black tea. A cup of black tea can relax you, help your heart and even increase your bone density, lower risk of diabetes & help in weight loss. Black tea is certainly one of the most popular teas and is well-known because of its antibacterial and antioxidant qualities. So you have every reason to love your cup of black tea!


Black tea is simply like green tea which is plucked from a plant called Camellia sinensis. The leaves of black tea soak in such a way that it can give a dark color when used as a beverage. Also, the leaves are mature dry and processed such that it has a darkish color. The flavor of black tea is very strong and contains more caffeine than other teas, however less caffeine than coffee.


Black Tea List of Popular Blends

🔺 Blends
🔺 Earl Grey Black Tea
🔺 English Breakfast
🔺 Irish Breakfast
🔺 Chai Tea
🔺 Afternoon Tea
🔺 Rose Black Tea
🔺 Russian Caravan



Black Tea List According To Production Region

Here is a listing of black tea types based on productivity.

⧫ Lapsang Souchong
⧫ Fujian Minhong
⧫ Anhui Keemun
⧫ Yunnan Dianhong
 Darjeeling Black Tea
⧫ Assam Black Tea
⧫ Ceylon Black Tea
⧫ Nilgiri Black Tea
⧫ Kenyan Black Tea




माँ लक्ष्मी की होगी कृपा, दीपावली की रात यहाँ जलाएं दीपक




दीपों का उत्सव आरंभ होते ही घर-घर में दीप झिलमिलाने लगते हैं।बुराई पर अच्छाई के प्रतीक दिवाली पर्व के लिए घरों में बहुत उमंग के साथ तैयारियां की जाती हैं। दीपावली की रात देवी महालक्ष्मी पृथ्वी पर भ्रमण करती हैं। इसीलिए इस रात में माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय किए जाते हैं। पुराने समय से परंपरा चली रही है कि दीपावली की रात में कुछ खास स्थानों पर दीपक जलाने  से देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। यहां जानिए कि आप दिवाली वाली रात पर कहां-कहां दिए जलाएं, जिससे कि आप पर माँ लक्ष्मी और भगवान गणेश जी की कृपा हमेशा बनी रहे।


1. सबसे पहले घर के पूजन स्थल में जहां लक्ष्मी का मुख्य पूजन करें, वहां पर दीपक जरूर लगाएं, जो पूरी रात बुझना नहीं चाहिए। उसके बाद घर को तेल के दीपक से सजाएं।

2. घर के तुलसी चौरे में दीपक लगाएं। यहां दीपावली के अलावा भी हर दिन दीपक लगाना चाहिए।

3. धन की कामना पूरी हो, इसके लिए अपने घर के मुख्य दरवाजे के बाहर दोनों तरफ दीपक अवश्य लगाएं।

4. घर के आंगन में घी का दीपक रखना चाहिए।

5. हमारे घर के आस-पास वाले चौराहे पर भी दीपक जलाकर रखना चाहिए। ऐसा करने से घर की दरिद्रता दूर होती है। 

6. एक दीपक वहां लगाएं जहां पीने के पानी रखा जाता है।

7. घर की गृहणियां भी रसोई में घी का दीपक  जलाएं, ऐसा करने से घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं होती है।

8. अपने घर की मुंडेर, दहलीज, खिड़की, बाथरूम, छत पर, दरवाजे, पर दीपक लगाने के साथ ही एक दीपक पड़ोसी के घर में भी शुभ शगुन का रखना चाहिए।

9. घर के आस-पास स्थित मंदिर में भी एक दिया लगाएं। इससे सभी देवी-देवताओं की कृपा मिलती है और परेशानियों से मुक्ति मानसिक शांति मिलती है।

10. बेलपत्र के पेड़ के नीचे दिया लगाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। उनकी कृपा से आर्थिक के अलावा व्यक्ति के जीवन में आने वाली अन्य तरह की परेशानियां दूर होती हैं।

11. दीपावली की रात्रि पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाने से देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती है। मगर, ध्यान रखें कि दिया लगाने के बाद उसे पीछे मुड़कर देखना नहीं है। यह उपाय दिवाली वाली रात में करना है।

12.  घर के पास कोई नदी या तालब हो तो बहा पर रात के समय दीपक अवश्य लगाएं। इस से दोषो से मुक्ति मिलती है।


आइये इस दिवाली यानी 7 नवंबर 2018 अपने घर को दिये से सजाएं और माँ लक्ष्मी की कृपा पायें। हमारी तरफ दिवाली की बहुत बहुत शुभकामनायें, माता लक्ष्मी और गणेश जी की कृपा आप सभी पाठकों पर सदैव बनी रहें।।


















































Tags: 2018 in दीपावली, date of दीपावली, essay on दीपावली, इस दीपावली रंगोली, इस वर्ष दीपावली में, दीपावली blog, दीपावली diya, दीपावली information, दीपावली puja, दीपावली quotes, दीपावली sms english, दीपावली sms hindi, दीपावली कब है, दीपावली की रात यहाँ जलाएं दीपक wiki, दीपावली की रात यहाँ जलाएं दीपक youtube, दीपावली की शुभकामना सन्देश, दीपावली क्यों मनाई जाती है, दीपावली पूजन की विधि, दीपावली फोटो, माँ लक्ष्मी की होगी कृपा दीपावली की रात यहाँ जलाएं दीपक facebook, शुभ दीपावली image, शुभ दीपावली video, शुभ दीपावली, शुभ दीपावली quotes














____

99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."


____

99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."




क्यों है कार्तिक (दामोदर) मास की महिमा??



आध्यात्मिक ऊर्जा एवं शारीरिक शक्ति संग्रह करने में कार्तिक मास का विशेष महत्व है। इसमें सूर्य की किरणों एवं चन्द्र किरणों का पृथ्वी पर पड़ने वाला प्रभाव मनुष्य के मन मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है। इसीलिए शास्त्रों में कार्तिक मास महात्म्य पर विशेष जोर दिया गया है। भगवान विष्णु एवं विष्णुतीर्थ के समान ही कार्तिक मास को श्रेष्ठ और दुर्लभ कहा गया है। कार्तिक मास कल्याणकारी माना जाता है। कहा गया है कि कार्तिक के समान दूसरा कोई मास नहीं, सतयुग के समान कोई युग नहीं, वेद के समान कोई शास्त्र नहीं और गंगाजी के समान कोई तीर्थ नहीं है। कार्तिक माह की विशेषता का वर्णन स्कन्द पुराण में भी दिया गया है| स्कन्द पुराण में लिखा है कि सभी मासों में कार्तिक मास, देवताओं में विष्णु भगवान, तीर्थों में नारायण तीर्थ (बद्रीनारायण) शुभ हैं।


हिंदू धर्म के धर्म शास्त्रों में प्रत्येक ऋतु व मास का अपना विशेष महत्व बताया गया है। सामान्य रूप से कार्तिक-मास का प्रारंभ शरद पूर्णिमा से होता है और यह कार्तिक पूर्णिमा तक चलता है। इस मास को "दामोदर मास" भी कहते हैं। दामोदर परम भगवान श्री कृष्ण का ही एक नाम है। कार्तिक मास में भगवान कृष्ण ने बहुत सी लीलाएं की हैं| इसी मास में यशोदा माँ ने बाल कृष्ण को ऊखल से बांधा था जिससे उनका नाम दामोदर पड़ा अर्थात् जिनका उदर(पेट) दाम(रस्सी) से बंध गया और इसलिए कार्तिक मास का नाम दामोदर मास पड़ा|


भगवान विष्णु और राधारानी को भी यह महीना सबसे अधिक पसंद है। भगवान विष्णु ने इसमें मत्स्य अवतार लिया था और राधारानी को यह महीना इसलिए पसंद है, क्योंकि इसमें भगवान कृष्ण ने विलक्षण लीलाएं की हैं। जिस प्रकार श्रावण मास शिव को समर्पित है, तो फाल्गुन कामदेव को, उसी तरह पुरुषोत्तम मास विष्णु को, तो कार्तिक मास श्रीकृष्ण को। इसीलिए, कार्तिक के संदर्भ में, ऐसी मान्यता है कि श्रीकृष्ण को वनस्पतियों में तुलसी, पुण्यक्षेत्रों में द्वारिका, तिथियों में एकादशी, प्रियजनों में राधा, महीनों में कार्तिक विशेष प्रिय हैं। इसीलिए कहते है…


कृष्ण प्रियो हि कार्तिक…. कार्तिक: कृष्ण वल्लभ:| 



कार्तिक माह में भगवान श्रीहरि की विधि विधान से पूजा की जाती है। कार्तिक का महत्व पद्मपुराण तथा स्कंदपुराण में बहुत विस्तार से उपलब्ध है। पुराणों में कहते हैं कि कार्तिक मास में धन से संबंधित विशेष आराधना व उपासना की जाती है, जिससे धन, आयु व आरोग्य की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि इस माह व्रत एवं तप करने वाले साधक को विशेष लाभ मिलता है । कार्तिक माह के बराबर भगवान विष्णु के पूजन व विष्णुतीर्थ के लिए कोई दूसरा माह नहीं है। कार्तिक मास में स्त्रियां ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करके राधा-दामोदर की पूजा करती हैं। कलियुग में कार्तिक मास व्रत को मोक्ष के साधन के रूप में बताया गया है। कार्तिक में पूरे माह ब्रह्म मुहूर्त में किसी नदी, तालाब, नहर या पोखर में स्नान कर भगवान की पूजा की जाती है। इस माह में किया गया स्नानदान, दीपदान एवं तुलसी की पूजा विशेष फलदायी मानी गई है।






धर्म शास्त्रों के अनुसार कार्तिक मास में सबसे प्रधान कार्य दीपदान करना बताया गया है। इससे अतुल्य पुण्य की प्राप्ति होती है। पदमपुराण के अनुसार कार्तिक के महीने में शुद्ध घी अथवा तेल का दीपक व्यक्ति को अपनी सामर्थ्यानुसार जलाना चाहिए| इस माह में जो व्यक्ति घी या तेल का दीया जलाता है, उसे अश्वमेघ यज्ञ के बराबर फलों की प्राप्ति होती है| इस मास में मंदिरों, नदी, पोखर, तालाब आदि में दीपदान किया जाता है। मान्यता है कि इस माह में दीपदान करने से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती हैं एवं विष्णु जी की कृपा प्राप्त होती है और जीवन में छाया अंधकार दूर होता है| कार्तिक मास में भगवान कृष्ण के आगे संध्या समय दिया अर्पण करने का विशेष महत्व है। इस विषय में पद्म पुराण में कहा गया है कि "कार्तिक मास में मात्र एक दीपक अर्पित करने से भगवान कृष्ण प्रसन्न होते हैँ। भगवान कृष्ण ऐसे व्यक्ति का भी गुणगान करते  हैँ जो दीपक जला कर अन्योँ को अर्पित करने के लिए देते हैँ।"


how website is important for youtube | Youtube Tricks 2019

how website is important for youtube

Having a website's really important for anybody who's on YouTube for a number of reasons. First of all, I just think it gives you a lot more credibility. It gives users another place to go to learn more about you. A place that you have complete control over, so anything that you want your users to know about you, you can put it on your website. So it really increases your credibility. It also is a great opportunity for you to embed your YouTube videos on your website. So, when we talk about ranking and search engines, you can name your video whatever you want and add the description on YouTube. But, then you can also embed that video on on your website. And, you can tweak the title of the article that you're posting on the website with your embedded video just a little bit, add some text, so that you rank for different keywords. Certain ones your YouTube video ranks for, and then certain ones your website article ranks for, and either way, they're finding your YouTube video. So, it's a really important aspect, having that kind of duality between your website and your YouTube channel. It also allows you to make a little bit more money. Because, if somebody is watching your video on your website, they're going to see the ads that roll into your YouTube video.

Youtube Tricks 2019,how website is important for youtube,How to rank your video through website,how to grow youtube channel,best trick to get youtube views,youtube secrets tips and tricks for growing your channel in 2019,how to grow youtube channel fast,2019