October 2019

सुहागिन महिलायें करवाचौथ पर जरुर रखें इन बातों का ध्यान



दोस्तों करवा चौथ का उपवास पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विशेष रूप से बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। परंतु इस आधुनिक युग में एक दूसरे को देखकर अन्य प्रांत के लोग भी करवा चौथ को धूमधाम से मनाने लगे हैं। सौभाग्यवती महिलाओं के जीवन में करवा चौथ व्रत का काफी महत्व होता है। भारतीय महिलायें करवा चौथ के दिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए उपवास रखती हैं।

करवा चौथ के दिन चांद देखने से पहले और उपवास खोलने से पहले इन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी होता है। माना जाता है कि ऐसा ना करने पर चंद्रमा नाराज हो जाते हैं और महिलाओं को उनकी पूजा का फल नहीं मिलता है।

1. करवा चौथ हिंदू कैलेंडर के अनुसार दिवाली से नौ दिन पहले कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी को मनाया जाता है।

2. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन देवी पार्वती ने भगवान शिव के लिए पहला करवा चौथ का व्रत रखा था।

सुहागिन महिलायें करवाचौथ पर जरुर रखें इन बातों का ध्यान


3. करवा चौथ पर महिलाओं द्वारा निर्जला व्रत रखकर भगवान शिव और देवी पार्वती की पूजा की जाती है।

4. यह व्रत सुबह सूर्योदय से शुरू होता है और शाम को चंद्रमा को देख क़र और जल अर्पण करनें के बाद ही व्रत को खोला जाता है। 

5. ज्यादातर परिवारों में करवा चौथ से एक दिन पहले सास अपनी बहुओं को सरगी जरूर देती है। सरगी में सास अपनी बहू को नए कपड़े, श्रृंगार का सामान, फल, मिठाई आदि देती है।


सुहागिन महिलायें करवाचौथ पर जरुर रखें इन बातों का ध्यान


6. करवा चौथ के दिन महिलायें सूर्योदय से पहले सरगी लेती हैं और सरगी लेने के बाद से ही निर्जला व्रत की शुरुआत होती है।

7. इस दिन मां गौरी की पूजा करने के बाद बहूओं को अपनी सास को बायना देना कभी नहीं भूलना चाहिए।

8. करवा चौथ के दिन घर के बड़े-बुजुर्गों का आर्शीवाद लेना चाहिए। ऐसा करने से उनके परिवार में सुख और सम्रद्धि बनी रहती है।


सुहागिन महिलायें करवाचौथ पर जरुर रखें इन बातों का ध्यान


9. महिलाएं पारंपरिक पहनावे के साथ माँग टीका, मंगल सूत्र, नथ, हाथों में रंग-बिरंगी चूड़ियाँ, पैरों की ऊँगली में बिछुए, हार आदि जेवर पहन कर तैयार होती हैं।

10. सुहागिन महिलायें इस दिन लाल रंग या पीले रंग के कपड़े ही पहनें। क्योंकि इन दोनों रंगों को शुभ माना जाता है। जिन महिलाओं नई शादी हुई है, वे अपने शादी के जोड़े को इस दिन जरूर पहनें।


मित्रों, इस पोस्ट में दीं गयी यह जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और मान्यताओं पर आधारित है। जिसे मैंने सामान्य लोगों की रुचि को ध्यान में रखकर ही प्रस्तुत किया गया है। मैं आशा करती हूँ कि आपको यह जानकरी जरूर पसंद आई होगी।


सुहागिन महिलायें करवाचौथ पर जरुर रखें इन बातों का ध्यान












Tags: importance of karwa chauth in hindi, karwa chauth 2019, important things for karwa chauth, karwa chauth celebration, karwa chauth hindi, karwa chauth important in hindi,karwa chauth important points, karwa chauth important tips in hindi, karwa chauth rules, karwa chauth rules, karwachauth par jarur rakhe in baato ka dhyan






____
99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."


Hello friends, everyone wants to look beautiful whether it is a festival or any other occasion. The festival of Karvachauth is very important for women. On this special occasion, every woman wants to look beautiful and to make herself look beautiful she does makeup. For this, ladies go to the beauty parlor and get ready and they do everything to bring a glow to her face so that her face will improve. But many times, even after getting ready from the beauty parlor, she does not get the glow that she wants on her face. Because many times women forget to follow basic tips.

However, every woman wishes to look at her wonderful on any occasion or festival day. She must be applying from creams to masks to get the glow on her face. But can you sincerely share their results with us? As some products give instant results, others don’t give any results even after regular use. But they can give some serious side effects on your skin.

So today we are telling you some such simple and homely beauty tips which will prove very useful for you and by using them you can get a new glow on your face.

Can these face packs do real magic for your skin! Yes, why not.


5 Homemade Face Packs For Glowing Skin


1. Milk Face Pack

5 Homemade Face Packs For Glowing Skin

Karwachauth or on any occasion, you can improve your face with a face pack made of honey and milk. To make this face pack, make a paste by mixing two teaspoons of milk, one teaspoon of honey and one teaspoon of gram flour. Then apply it on the face and after drying after 15-20 minutes wash the face with lukewarm water.


2. Banana Face Pack

5 Homemade Face Packs For Glowing Skin

To make the face beautiful, you can also apply the banana face pack. To make it, you mash a banana and make it pulp. Then add a teaspoon of honey and a little rose water. Now leave this face pack on the face for 25 to 30 minutes, then wash the face with cold water.


3. Rose Water

5 Homemade Face Packs For Glowing Skin

To wash and clean the face, spray cold rose water on your face at regular intervals. This will remove the dirt on the skin and make your face glow.



भारतवर्ष में पौराणिक ग्रंथों, हिंदू धर्मग्रंथो और शास्त्रों के अनुसार हर महीने कोई न कोई पर्व, संस्कार, व्रत आदि होता ही रहता है। परन्तु कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को जो व्रत किया जाता है उसका विवाहित स्त्रियों के लिये बहुत अधिक महत्व होता है। वास्तव में इस दिन करवा चौथ का व्रत किया जाता है। करवा चौथ का व्रत विवाहित स्त्रियां बहुत श्रद्धा और उत्साह करती हैं, चाहें वो ग्रामीण परिवेश से हों या आधुनिक परिवेश से। यह माना जाता है कि यदि इस दिन सुहागिन स्त्रियां व्रत रखती हैँ तो उनके पति की दीर्ध आयु होती है और उनका पारिवारिक जीवन सुखद होता है। करवा चौथ का व्रत तृतीया के साथ चतुर्थी उदय हो, उस दिन करना शुभ है। तृतीया तिथि ‘जया तिथिहोती है। इससे पति को अपने कार्यों में सर्वत्र विजय प्राप्त होती है।

भारतीय समाज में ऐसी कई परंपराएं हैं जिनके माध्यम से पति-पत्नी के बीच एक दुसरे के लिए पारस्परिक समझ और प्यार बढ़ता है! करवा चौथ भी इसमे से एक है। करवाचौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से ही शुरु हो जाता है और रात को महिलाएं चंद्रदर्शन के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर अपने पति के हाथ से पानी पीकर और मीठा खाकर अपना व्रत खोलती हैं। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है और करवाचौथ व्रत की कथा सुनी जाती है। मान्‍यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने से अखंड सौभाग्‍य का वरदान मिलता है।

हालांकि पूरे भारतवर्ष में हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोग इस त्यौहार को मनाते हैं लेकिन उत्तर भारत खासकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि में यह त्यौहार बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। कहीं-कहीं करवा चौथ को करकरा व्रत या करक चतुर्थी भी कहा जाता हैं। इस बार आने वाली 17 अक्टूबर 2019 को करवा चौथ (Karva Chauth 2019) का व्रत मनाया जाएगा। ऐसे में आज हम आपको बतायेंगे चाँद निकलने का समय और पूजा का शुभ मुहूर्त…



करवा चौथ पर्व तिथि व मुहूर्त 2019


करवा चौथ तिथि- 17 अक्तूबर 2019

करवा चौथ पूजा मुहूर्त- 17:46 से 19:02

चंद्रोदय- 20:20

चतुर्थी तिथि आरंभ- 06:48 (17 अक्तूबर 2019)

चतुर्थी तिथि समाप्त- 07:28 (18 अक्तूबर 2019)
















Tags: about karwa chauth vrat, date of karwa chauth vrat, details of karwa chauth vrat, full karwa chauth vrat katha in hindi, how to do karwa chauth vrat, karva chauth vrat bataye, karwa chauth ka vrat chand kitne baje niklega, karwa chauth ka vrat kab hai 2019, karwa chauth ka vrat kaise kiya jata hai, karwa chauth ka vrat karne ki vidhi, karwa chauth ka vrat ke baare mein jankari, karwa chauth vrat kab hai puja ka shubh muhurat kya hai, karwa chauth vrat muhurat, karwa chauth vrat pooja samagri, karwa chauth vrat puja karne ki vidhi, karwa chauth vrat puja time, what to do in karwa chauth vrat, what to eat after karwa chauth vrat, what to eat before karwa chauth vrat, when karwa chauth vrat, करवा चौथ व्रत कब है, करवा चौथ व्रत का महत्व, करवा चौथ व्रत कैसे किया जाता है, करवा चौथ व्रत पूजन विधि, करवा चौथ व्रत रखने की विधि, करवा चौथ व्रत सामग्री








____
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

धन और सफलता पाने के लिए दशहरे पर करें ये 8 उपाय


दशहरा या विजयादशमी का पर्व अश्विन माह के शुक्लपक्ष की दशमी को धूम-धाम से मनाया जाता है। देशभर में यह त्यौहार भगवान श्रीराम की बुराइयों के पर्याय राक्षस रावण पर विजय के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

शास्त्रों के अनुसार दशहरा यानि विजयादशमी वर्ष के स्वयंसिद्ध मुहूर्त के रूप में जाना जाता है। क्योंक‌ि ऐसा माना जाता है कि इस द‌िन मां दुर्गा पृथ्वी से अपने लोक के ल‌िए प्रस्‍थान करती हैं। शास्त्रों का कथन है कि इस दिन किया गया कार्य शत प्रतिशत सफल होता है। इसके अलावा इस दिन कोई भी शुभ कार्य करने के लिए मुहूर्त, पंचांग देखने की जरुरत नहीं होती है।

शास्त्रों के अनुसार दशहरे के दिन लोग शस्त्र पूजा भी करते हैं जिससे कि शत्रुओं पर विजय प्राप्त की जा सके। इसके अलावा इस दिन पूरे वर्ष को सुखद और धन धान्य से पर‌िपूर्ण बनाने के ल‌िए लोग सद‌ियों से कुछ आसान से उपाय करते आ रहें हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही उपाय बता रहे हैं जिन्हेँ इस दशहरे पर आजमाकर आप अपनी ज‌िंदगी को संपन्न और सुखी बना सकते हैं।


उपाय

1. धर्म शास्त्र के अनुसार दशहरे के दिन शमी के वृक्ष की पूजा करनी चाहिए। यदि संभव हो सके तो इस द‌िन आप अपने घर में शमी का पौधा लगाएं और इस पौधे पर नित्य दीप जलाएं। शमी को सोना देने वाला वृक्ष माना जाता है क्योंकि ऐसी धार्मिक मान्यता है कि दशहरे के दिन कुबेर ने राजा रघु को स्वर्ण मुद्रांए देने के लिए शमी के पत्तों को सोना बना दिया था।

2. दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी का दर्शन करना बहुत ही शुभ होता है। माना जाता है क‌ि नीलकंठ के दर्शन होने से घर में धन-धान्य की वृद्धि होती है। यह कहा जाता है कि अगर दशहरे के दिन यह पक्षी किसी को दिख जाता है तो उसका आने वाला पूरा साल खुशहाली से भरा होता है।

3. यदि किसी युवक-युवती के विवाह में कोई स्र्कावट आ रही है तो वह दशहरे वाले दिन कच्ची हल्दी की तीन गांठ लेकर दुर्गा मंदिर में जाएं। उन गांठों को मां दुर्गा की प्रतिमा से स्पर्श करवाकर मां दुर्गा से अपने शीघ्र विवाह की कामना करें और घर आकर उन गांठों को पीले कपड़े में बांधकर अपने पास रख लें।

4. भगवान हनुमान को संकटमोचन भी कहा जाता है क्योंकि हर तरह के संकट को दूर करने में भगवान हनुमान जैसा कोई नहीं है। अगर आप किसी प्रकार के संकट का सामना कर रहें हैं तो दशहरे के दिन भगवान हनुमान को सुबह गुड़ चने और शाम को लड्डुओं का भोग लगाकर उनसे प्रार्थना करें इससे हनुमान जी आपकी रक्षा करेंगे।

धन और सफलता पाने के लिए दशहरे पर करें ये 8 उपाय

5. दशहरे के दिन आप दोपहर में अपने घर के ईशान कोने में स्वच्छ भूमि पर चंदन, कुमकुम और पुष्प से अष्टदल कमल की आकृति बनाएं और देवी जया व वजिया का स्मरण कर उनका पूजन करें। इसके बाद शमी वृक्ष की पूजाकर वृक्ष के पास की थोड़ी सी मिट्टी लेकर अपने घर में रखें। यह माना जाता है कि ऐसा करने से रुके हुए काम बन जाते हैं और गरीबी नहीं आती है।

6. दशहरे के दिन शिक्षा के क्षेत्र में सफल होने के लिए विद्यार्थी प्रातः के समय पूजा स्थान में बैठकर स्फटिक की माला से ऊं ऐं मंत्र की 11 माला का जाप करें। माला पूरी होने के बाद वह माला पहन लें। इससे उनके बौद्धिक कौशल में वृद्धि होगी और परीक्षाओं में सफलता प्राप्त होने लगेगी।

7. किसी को अपने बुरे कार्यों के लिए यदि यमलोक का भय सता रहा हो तो वो दशहरे के दिन मां काली का ध्यान करते हुए उनसे क्षमा मांगें और मां काली को काले तिल चढ़ाएं। माना जाता है कि ऐसा हर साल करने से यमलोक की यातनाओं का भय नहीं सताता।

8. बड़े-बुजुर्ग बताते है कि अगर दशहरे के दिन रावण दहन के बाद बची हुई लकडिय़ां मिल जाएं तो उसे घर में लाकर कहीं सुरक्ष‌ित रख लेना चाहिए। ऐसा करने से नकारात्मक शक्तियों का घर में प्रवेश नहीं होता है।

तो दोस्तों ये है कुछ सरल उपाय जिन्हें करके धन की कमी आप को कभी नहीं होगी। आपको हमारा लेख कैसा लगा हमें जरूर बतायें।










Tags: dhan ke liye duesshra par kare yeh upay hindi, duesshra par kare yeh upay bataye, dussehra, dussehra ke achuk upay, dussehra ke chamatkari upay, dussehra ke gharelu upay, dussehra ke totke upay, dussehra par dhan prapti ke upay, dussehra par karne wale upay, dussehra par kya upay kare, दशहरा पर उपाय, दशहरे पर करें ये उपाय gharelu, दशहरे पर करें ये उपाय in hindi, धन और सफलता पाने के लिए दशहरे पर करें ये उपाय बताइए, धन और सफलता पाने के लिए दूसरे पर करें ये 8 उपाय, दशहरा के टोटके, दशहरा के उपाय







____
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

नवरात्रि स्पेशल- फलाहारी साबूदाना डोसा


भारत में हिंदू व्रत या व्रत के दौरान, साबूदाना व्यंजनों में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला घटक है। साबूदाना से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाये जाते हैं।  

आमतौर पर लोग साबूदाना खिचड़ी, साबूदाना वड़ा और साबूदाना थालीपीठ बनाते हैं क्योंकि ये सबसे लोकप्रिय साबूदाना व्यंजन हैं। लेकिन कभी-कभी आप हर समय एक ही तरह के व्यंजन बनाते रहने से ऊब जाते हैं और आप इन व्यंजनों में बदलाव की जरूरत महसूस करते हैं। 

उपवास के दौरान कौन सा भोजन पकाना, उपवास के दौरान पूछे जाने वाले सबसे बड़े प्रश्नों में से एक है। तो, अबकी बार इस नवरात्रि में आप यह साबूदाना डोसा बनाएं। इसमें इस्तेमाल किये जाने घटक समान है लेकिन स्वाद और बनावट पूरी तरह से अलग है। साबुदाना डोसा बहुत ही क्रिस्पी और माउथ वॉटरिंग रेसिपी में से एक है। अगर आपको डोसा पसन्द है तो नारियल की चटनीके साथ आपको इसे बनाने की कोशिश करनी चाहिए।

तो लीजिये, यहां हम आपके लिए ला रहे हैं इस नवरात्रि की सबसे अच्छी और आसान रेसिपी


तैयारी का समय - 5 घंटे

डोसा बनाने का समय - 20 मिनट

कुल समय - 5 घंटे 20 मिनट 


सामग्री:

साबुदाना 2 कप (5 घंटे के लिए भिगोएँ)
अदरक 1 इंच टुकड़ा
हरी मिर्च का पेस्ट ½ चम्मच
जीरा पाउडर (भुना हुआ) ½ छोटा चम्मच
धनिया पत्ती बारीक कटी हुई (स्वादानुसार)
घी 
सेंधा नमक (स्वादानुसार)


डोसा बनाने की विधि:

1. सबसे पहले 2 कप साबूदाने को पानी से खूब अच्छी तरह से धो कर 5 घंटे के लिए पर्याप्त पानी में भिगो दें।

2. इसके बाद साबूदाने को छलनी में डाल कर पानी को बाहर निकाल दें।

3. अब एक ब्लेंडर जार में साबुदाना और अदरक लें और इसे एक चिकना पेस्ट बना लें।

4. एक कटोरे में साबुदाना घोल डालें। इसमें नमक, हरी मिर्च का पेस्ट, जीरा पाउडर, बारीक कटी धनिया पत्ती और पानी डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। इसे ढक कर 15 मिनट के लिए अलग रख दें।

5. अब डोसा बनाने के लिए एक पैन या तवा गरम करें और इसे गैस पर से उतार लें।

6. एक गीले कपड़े से पोंछकर पैन का तापमान नीचे लाएं।

7. अब, 1 बड़ा चम्मच डोसा बैटर लें और इसे तवे पर फैलाएं और तवे को वापस आंच पर रखें। इसे मीडियम आंच पर 2 मिनट के लिए छोड़ दें।

8. 2 मिनट के बाद इसमें 1 टीस्पून घी डालें। और डोसे को पलटें और दूसरी साइड को भी 2 मिनट के लिए पकाएं।

9. फिर इसे प्लेट में निकाल लें और नारियल की चटनी के साथ सर्व करें।
















Tags: crispy sabudana dosa, dosa batter with sabudana, easy sabudana dosa recipe, healthy sabudana dosa recipe, how to make sabudana dosa recipe, making of sabudana dosa, navratri special saboodana dosa download, navratri special saboodana dosa in hindi, navratri special saboodana dosa recipe ingredients, navratri special saboodana dosa recipe instant, navratri special saboodana dosa recipe list, navratri special saboodana dosa recipe quick, navratri special sabudana dosa recipe youtube, preparation of sabudana dosa, sabudana dosa banane ki recipe, sabudana dosa for vrat, sabudana dosa kaise banta hai, sabudana dosa recipe for fast, sabudana ka dosa, simple sabudana dosa recipe, साबूदाना डोसा रेसिपी इन हिंदी







____
99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."