99advice search

Top News

दशहरे पर करें इन 6 चीजों के दर्शन

हिंदू धर्म में अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा का पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। दशहरा पर्व की पौराणिक कथा असत्य पर सत्य की जीत के साथ बुराई पर अच्छाई की जीत को भी दिखाती है। इसे विजयदशमी भी कहते हैं। मान्यताओं अनुसार इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था और लंका पर विजय प्राप्त की थी और इसी विजय पर्व को लोग विजयादशमी के नाम से जानने लगे। इस दिन शस्त्र पूजन किया जाता है तो वहीं शाम के समय रावण का दहन होता है।

देश के हर कोने में अलग अलग तरह से दशहरा (Dussehra 2022) मनाया जाता है, कहीं मेला लगता है तो कहीं रावण दहन, कहीं रामलीला होती है तो कहीं रावण की पूजा की जाती है। इस पावन पर्व पर ऐसी कई मान्यताएं हैं जो काफी लाभकारी और शुभ मानी जाती हैं।

आज के दिन किसी भी कार्य की शुरुआत करना शुभ माना जाता है। ऐसे में कुछ चीजें ऐसी भी हैं, जो संकेत देती हैं, कि आज आपकी सोई हुई किस्मत चमकने वाली है। कई बार इसके संकेत भी आपको पहले से ही मिलने लगते हैं। आज के इस शुभ दिन यदि आपको एक विशेष पक्षी के अलावा कुछ ऐसी अन्य चीजें भी दिख जाएं, जो साधारणतया दिखाई नहीं देती हैं, तो समझ लीजिये आपका शुभ समय अब शुरू होने वाला है। आपके जीवन में खुशहाली आनेवाली है।

आइये जानते है कौन सी है वो चीजें-

1. नीलकंठ पक्षी के दर्शन

दशहरे पर करें इन 6 चीजों के दर्शन

नीलकंठ पक्षी एक ऐसा पक्षी है जिसका कंठ नीले रंग का होता है और इसी वजह से इसे नीलकंठ कहते हैं। नीलकंठ पक्षी को भगवान शिव का ही रूप माना जाता है। यह पक्षी आमतौर पर दिखाई नहीं देता है लेकिन अगर कभी ये पक्षी दिख जाए, तो इसका दिखना शुभ माना जाता है। ज्योतिष के जानकारों का ऐसा मानना है कि दशहरे के दिन अगर किसी को नीलकंठ पक्षी नजर आ जाए तो यह उसके लिए अच्छे समय की शुरुआत होने का संकेत होता है और वहीं जो काम वो करने जा रहे हैं उसमें सफलता मिलती है। भगवान राम ने इस पक्षी को देखने के बाद ही रावण को पराजित किया था।


Dussehra 2022 Vastu Tips: नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा-अर्चना की जाती है और दशहरा के दिन विसर्जन किया जाता है। मां के 9 दिन पूरे होते ही 10वें दिन दशहरा का त्यौहार मनाया जाता  है। इस पर्व को अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि इस दिन भगवान श्री राम ने लंकापति रावण का वध किया था। दशहरा से श्रीराम और रावण की पौराणिक कथा जुड़ी हुई है। कहा जाता है कि वनवास के दौरान सीता हरण के पश्चात श्रीराम (Shri Ram) ने रावण का वध कर दिया था। लंकापति रावण की मृत्यु और श्रीराम की जीत को बुराई पर अच्छाई की विजय माना जाता है और इसीलिए हर साल दशहरा मनाया जाता है।

दशहरा का दिन इसी कारण से काफी शुभ माना जाता है। इस दिन सुख-समृद्धि के साथ मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होता है। दशहरा के दिन कई तरह के उपायों को अपनाते हैं। वास्तु (Vastu Shastra) में दशहरा को लेकर कुछ उपाय बताए गए हैं जो व्यक्ति और उसके घर-परिवार के लिए अच्छे माने जाते हैं। आप चाहे तो वास्तु शास्त्र संबंधी इन उपायों को अपना सकते हैं। आइये जानते वो कोण से है उपाय -

दशहरा के दिन अपनाएं ये उपाय


तिजोरी में रखें जयंती

दशहरा के दिन नवरात्र का भी समापन होता है। इसलिए इस दिन नवरात्र का पारण या विसर्जन किया जाता है। इसलिए विसर्जन करने से एक लाल कपड़े में थोड़ी सी जयंती बांधकर तिजोरी में रख दें। जब नवरात्र के दिनों में जौ से अंकुर निकल आते हैं उसे ही जयंती कहा जाता है। वास्तु शास्त्र में इस जयंती को घर की तिजोरी में रखने की सलाह दी जाती है। 

सेंधा नमक से लगाएं पोछा

वास्तु शास्त्र के अनुसार, दशहरा वाले दिन पूरे घर को सेंधा नमक से पोछा लगाना शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस वास्तु उपाय से घर के सभी दोष और नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती हैं और जीवन में खुशहाली आती है।

रावण दहन की लकड़ी

वास्तु शास्त्र के अनुसार रावण दहन (Ravan Dahan) की लकड़ी घर लेकर आना बेहद शुभ होता है। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा निकल जाती है और घर में सकारात्मकता आती है। सुख-समृद्धि के लिए इस उपाय को अच्छा माना जाता है।

लक्ष्मी सूत का पाठ

मान्यतानुसार दशहरा के दिन लक्ष्मी सूत का पाठ करना शुभ होता है। यह घर की बढ़ोत्तरी में लगी नज़र को दूर करती है। साथ ही घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह भी बढ़ जाता है और मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

घर में जलाएं चौमुखा दीपक

वास्तु शास्त्र के अनुसार, दशहरा के दिन शाम के समय दक्षिण दिशा की ओर चौमुखा दीपक जलाएं। ऐसा करने से घर की हर परेशानी खत्म हो जाएगी और सुख-संपदा की प्राप्ति होगी। चौमुखा दीया घर के मुख्य द्वार की तरफ भी रख सकती हैं। ऐसा करने से घर के दोषों से मुक्ति मिलने के साथ खुशहाली आती है।

दोस्तों, दशहरा के दिन किये गए उपरोक्त वास्तु के उपाय आपके घर में सुख समृद्धि ला सकते हैं और जीवन को खुशियों से भर सकते हैं। आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। बाकी अन्य लेखों को पढ़ने के लिए आपकी अपनी वेबसाइट www. 99advice.com के साथ ऐसे ही जुड़े रहें


(Disclaimer – इस लेख में उपलब्ध जानकारियाँ ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दी गयी सूचनाओं और मान्यताओं पर आधारित है। www.99advice.com इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता का परिपालन करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।)




Tags: dussehra 2022, dussehra 2022 vastu tips and tricks in hindi, dussehra 2022 vastu tips at home in hindi, dussehra 2022 vastu tips bataiye, dussehra 2022 vastu tips drik panchang, dussehra 2022 vastu tips for home in hindi, dussehra 2022 vastu tips images, dussehra 2022 vastu tips in hindi, दशहरे के उपाय, दशहरे के दिन आजमाएं ये वास्तु टिप्स for home, दशहरे के टोटके, दशहरे के दिन आजमाएं ये वास्तु टिप्स है, दशहरे के दिन क्या करना चाहिए, वास्तु टिप्स, विजयदशमी के दिन क्या करना चाहिए





____
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."
करें दुर्गा सप्तशती के चमत्कारी मंत्रों का जाप, मिलेगा सौभाग्य और धन !!

मुख्य बातें -

मां दुर्गा के मंत्रों का जाप करके आप अपनी मनोकामनाएं पूरी कर सकते हैं।

दुर्गा सप्तशती के मंत्रों का जाप यदि शुद्धता के साथ करें तो मां दुर्गा का आशीर्वाद अवश्य ही प्राप्त होगा।


Navratri 2022 Durga Saptashati Mantra: शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri) में मां दुर्गा (Maa Durga) की असीम कृपा प्राप्त करने के लिए शुभ एवं खास अवसर होता है। इन नौ दिनों में लोग मां दुर्गा के मंत्रों का जाप कर अपनी कामना सिद्धि की प्रार्थना करते हैं। ऐसे में आप भी नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के कुछ विशेष मंत्रों (Maa Durga Special Mantra) का जाप कर अपनी मनोकामना पूरी कर सकते हैं। 

नवरात्रि में आपको दुर्गा सप्तशती में दिए गए कुछ प्रभावशाली मंत्रों (Durga Saptashati Poweful Mantra) का जाप करना होगा। दुर्गा सप्तशती में कई ऐसे प्रभावशाली सिद्ध मंत्र दिए गए हैं, जिनके जाप से आप उत्तम सेहत, धन, सौभाग्य, सुरक्षा, सफलता आदि की प्राप्ति कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि नवरात्रि में मां दुर्गा की कृपा प्राप्त करने के लिए किन मंत्रों का जाप करना अच्छा रहेगा-

1. जीवन में सभी प्रकार के कल्याण का मंत्र

सर्वमंगलमांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।

शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणि नमोस्तु ते।।


2. असाध्य रोगों के नाश के लिए मंत्र

रोगानशेषानपहंसि तुष्टा

रुष्टा तु कामान् सकलानभीष्टान्।

त्वामाश्रितानां विपन्नराणां

त्वामाश्रिता ह्याश्रयतां प्रयान्ति।।


3. उत्तम सेहत और सौभाग्य के लिए मंत्र

देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम्।

रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि।।


4. संकट और विपत्ति नाश करने वाला मंत्र

करोतु सा नः शुभहेतुरीश्वरी

शुभानि भद्राण्यभिहन्तु चापदः।


5. शक्ति और सामर्थ्य प्राप्त करने के लिए मंत्र

सृष्टिस्थितिविनाशानां शक्तिभूते सनातनि।

गुणाश्रये गुणमये नारायणि नमोस्तु ते।।


6. सुख, सौभाग्य, सेहत के लिए मंत्र

ऐश्वर्य यत्प्रसादेन सौभाग्य-आरोग्य सम्पदः।

शत्रु हानि परो मोक्षः स्तुयते सान किं जनै।।


7. मोक्ष और स्वर्ग प्राप्त करने के लिए मंत्र

सर्वभूता यदा देवी स्वर्गमुक्तिप्रदायिनी।

त्वं स्तुता स्तुतये का वा भवन्तु परमोक्तयः।।


8. प्रसन्नता प्राप्त करने के लिए मंत्र

प्रणतानां प्रसीद त्वं देवि विश्वार्तिहारिणि।

त्रैलोक्यवासिनामीड्ये लोकानां वरदा भव।।


9. दरिद्रता दूर करने के लिए मंत्र

दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो।

सवर्स्धः स्मृता मतिमतीव शुभाम् ददासि।।


10. धन और संतान प्राप्ति के लिए मंत्र

सर्वाबाधा वि निर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वितः।

मनुष्यो मत्प्रसादेन भवष्यति संशय॥


11. मां दुर्गा से रक्षा पाने के लिए मंत्र

शूलेन पाहि नो देवि पाहि खड्गेन चाम्बिके।

घण्टास्वनेन नरू पाहि चापज्यानिरूस्वनेन च।।


ऐसी मान्यता है कि दुर्गा सप्तशती के इन मंत्रों का विधिवत जाप करने से माँ भगवती का आशीर्वाद मिलता है। आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी अगर अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों के साथ इसे जरूर शेयर करें। अन्य लेख पढ़ने के लिए आपकी अपनी वेबसाइट www.99advice.com के साथ ऐसे ही जुड़े रहें।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। www.99advice.com इसकी पुष्टि नहीं करता है।)







Tags: durga saptashati adhyay, durga saptashati argala stotram, durga saptashati beej mantra, durga saptashati book gita press pdf, durga saptashati by anuradha paudwal, durga saptashati devi kavach in hindi pdf, durga saptashati devi suktam, durga saptashati hindi pdf free download, दुर्गा सप्तशती के अचूक मंत्र, दुर्गा सप्तशती के चमत्कारी मंत्रों benefits in hindi, दुर्गा सप्तशती के पाठ से लाभ, दुर्गा सप्तशती के बीज मंत्र, दुर्गा सप्तशती के मंत्र, दुर्गा सप्तशती के महा मंत्र, दुर्गा सप्तशती के मारण मंत्र, दुर्गा सप्तशती के लाभ, दुर्गा सप्तशती के संपुट मंत्र, दुर्गा सप्तशती के सिद्ध वशीकरण मंत्र, दुर्गा सप्तशती जाप, दुर्गा सप्तशती बीज मंत्र आत्म साधना, दुर्गा सप्तशती बीज मंत्र पाठ, दुर्गा सप्तशती या देवी सर्वभूतेषु, बीज मंत्रात्मक दुर्गा सप्तशती, महामारी दूर करने का मंत्र, महामारी नाश के लिए मंत्र, महामारी मंत्र दुर्गा सप्तशती, माँ दुर्गा के चमत्कारी मंत्र, माँ दुर्गा क्षमा प्रार्थना







____ 
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."