99advice search

Top News

नवरात्रि व्रत रेपिसी: चटपटी आलू मखाना चाट, झटपट होजाये तैयार

नवरात्रि व्रत रेपिसी: चटपटी आलू मखाना चाट

नवरात्रि के दिनों में लोग दुर्गा मां को प्रसन्न करने के लिए पूरे 9 दिनों तक उपवास रखते हैं और व्रत के दौरान फलाहारी भोजन करते हैं। ऐसे में कभी कभी व्रत के दौरान कुछ चटपटा खाने का मन करता है। अगर आपका कुछ चटपटा और पौष्टिक खाने का मन कर कर रहा है तो आप आलू और मखाने की चाट खा सकते हैं। आलू और मखाने से तैयार होने वाली यह स्वादिष्ट चाट जहाँ बनने में जितनी आसान है उससे भी ज्यादा सेहत के लिए लाभदायक है। इस चाट से आप अपने मुंह का स्वाद भी बदल सकते हैं।

तो आइए जानते हैं कैसे बनाई जाती है स्वादिष्ट आलू और मखाने की चाट- 

 

आलू मखाना चाट बनाने के लिए सामग्री-

आलू - 300 ग्राम (उबले हुए)

मखाना - 2 कटोरी

मूंगफली – 1 बड़े चम्मच

काली या मिर्च पाउडर – स्वादानुसार

जीरा पाउडर - 1 चम्मच

अमचूर - स्वादानुसार या नींबू का रस – 1 चम्मच

अनारदाना -1 चम्मच

कटी हुई दो हरी मिर्च - 2

हरा धनिया (बारीक कटा हुआ)

देसी घी- 2 चम्मच

सेंधा नमक - स्वादानुसार


आलू मखाना चाट बनाने की विधि-

आलू मखाना चाट बनाने के लिए सबसे पहले उबले हुए आलू के छोटे-छोटे साइज में टुकड़े कर लें।

उसके बाद एक पैन गर्म करें और उसमें मखाने डालकर रोस्ट कर लें। फिर उसी पैन में मूंगफली डालकर उसे भी रोस्ट कर लें।

अब एक पैन में 2 चम्मच घी डालकर अच्छी तरह गर्म करें। घी गर्म होने के बाद पैन में आलू, हरी मिर्च और सभी मसाले डालकर अच्छी तरह मिक्स करें। गैस तब तक ऑन रखें जब तक आलू गोल्डन ब्राउन न हो जाएं।

आलू अच्छे से ब्राउन होने के बाद गैस बंद कर दें, और इसे आंच से उतार लें।

आलू में आप मखाने तब डालें जब आपने यह चाट खानी हो, वरना मखाने सॉफ्ट हो जाएंगे और आपको चाट का स्वाद बिल्कुल नहीं आएगा।

लीजिए तैयार है आपकी स्वादिष्ट चटपटी आलू मखाना चाट। जब भूख लगे तो आलू में मखाने मिक्स करने के बाद इस चाट का मजा लें।








Tags: navratri ke vrat ki recipe, navratri vrat aloo ki sabzi, navratri vrat aloo recipe, navratri vrat chutney, navratri vrat falahari, navratri vrat food recipes in hindi, navratri vrat ka khana recipes in hindi, navratri vrat ki namkeen, navratri vrat makhana recipe, navratri vrat me khane wali recipe, navratri vrat recipes indian in hindi, navratri vrat sweets, navratri vrat thali, चटपटी आलू चाट, चटपटी आलू मखाना चाट in hindi, चटपटी आलू मखाना चाट youtube, चटपटी आलू मखाना चाट कैसे बनाएं, चटपटी आलू मखाना चाट बनाने की विधि, चटपटी आलू मखाना चाट रेसिपी, नवरात्रि के व्रत की रेसिपी








____ 
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

Chaitra Navratri 2021: चैत्र नवरात्रि व्रत में खाएंगे ये चीजें तो बचेंगे डिहाइड्रेशन से


नवरात्रि व्रत में खाएंगे ये चीजें तो बचेंगे डिहाइड्रेशन से


मां दुर्गा की आराधना का पावन पर्व, चैत्र नवरात्र शुरू हो गए हैं। नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। इन दिनों में मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त पूरे नौ दिनों तक व्रत रखते हैं। नवरात्रि के साथ ही गर्मियों का मौसम भी शुरू हो गया है और ऐसे में शरीर को ठंडा रखना बहुत जरूरी होता है।

वास्तव में पूरे नौ दिन तक व्रत रखना किसी के लिए भी आसान नहीं होता। व्रत के दौरान शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिससे लोग बीमार भी हो जाते हैं। ऐसे में ये बहुत आवश्यक हो जाता है कि व्रत में कुछ ऐसे फल और सब्जियों का सेवन किया जाए जिसमेँ पानी की प्रचुर मात्रा हो और व्रत के दिनों में शरीर में पानी की कमी हो।

अगर आप भी व्रत रख रहे हैं तो इस दौरान आपको अपने खानपान का ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि फलहार में ऐसे फल और सब्जियों को शामिल करना चाहिये जिन्हें खाने से शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाया जा सके। आइए जानते हैं कुछ ऐसे फल और सब्जियों के बारे में जिन्हें व्रत में खाने से आपका शरीर हाइड्रेटेड रहेगा --

Holi 2021: जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और तिथि


जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और तिथि

होली का उत्सव बसंत ऋतु में फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन मनाया जाने वाला बहुत महत्वपूर्ण पर्व है। पारंपरिक रूप से यह पर्व दो दिन मनाया जाता है। पहले दिन होलिका दहन के रूप में मनाया जाता है। और फिर अगले दिन अबीर-गुलाल और रंगों से होली का त्यौहार जिसे धुलेंडी के नाम से जाना जाता है, बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है। फाल्गुन मास में मनाए जाने के कारण होली को फाल्गुनी नाम से भी जाना जाता है।

होलिका दहन को छोटी होली, कामदु पियरे या जलाने वाली होली भी कहा जाता है। यह आग जलाकर मनाया जाता है जो होलिका नामक राक्षसी के जलने का प्रतीक है। होलिका दहन के साथ होली का त्यौहार आरंभ हो जाता है। इसलिए होलिका दहन का इंतजार सभी लोगों को रहता है। हर कोई जानना चाहता है कि होलिका दहन कब और किस दिन किया जाएगा। होली का त्यौहार किस दिन मनाया जाएगा और होली किस दिन जलेगी इसकी गणना पंचांग के द्वारा की जाती है।


होली पर बन रहे हैं कई खास और दुर्लभ योग


इस साल होली के दिन ध्रुव योग का निर्माण हो रहा है। इस दिन चंद्रमा कन्या राशि में गोचर कर रहा होगा। जबकि मकर राशि में शनि और गुरु विराजमान होंगे। 499 साल के बाद होली पर ऐसा संयोग फिर से बना है। इसके अलावा होली के दिन शुक्र और सूर्य मीन राशि में रहेंगे। मंगल और राहु वृषभ राशि, बुध कुंभ राशि और मोक्ष के कारण केतु वृश्चिक राशि में विराजमान होंगे। वहीं अगर होली के दिन बन रहे शुभ योगों की बात करें तो इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग का निर्माण हो रहा है, जिसे मुहूर्त शास्त्र में बहुत ही शुभ माना जाता है।

पंचांग के गणना के आधार पर होलिका दहन 28 मार्च रविवार के दिन पूर्णिमा की तिथि में किया जाएगा । इस वर्ष होलिका दहन पर भद्रा का साया नहीं होगा

इस साल होली पर ग्रहों का विशेष संयोग बन रहा है, जिससे होली का महत्व बढ़ गया है। आइए जानते हैं होलिका दहन 2021 के बारे में...


होली शुभ मुहूर्त 2021



फाल्गुन पूर्णिमा 2021

पूर्णिमा तिथि प्रारंभ- 28 मार्च 2021 को सुबह 03:27 बजे

पूर्णिमा तिथि समाप्त- 29 मार्च 2021 को रात 12:17 बजे

होलिका दहन का मुहूर्त- 28 मार्च को शाम में 06:37 बजे से रात में 08:56 बजे तक

अवधि- 2 घंटे 20 मिनट












Tags: date of holi in 2021, happy holi, happy holi होलिका दहन, holi date 2021, holi festival 2021, holi recipe in hindi, holika dahan 2021 date and time, holika dahan 2021 date in india calendar, holika dahan aaj kitne baje hoga, holika dahan and holi image, holika dahan bhakt prahlad, holika dahan ka shubh muhurat bataye, holika dahan ka shubh muhurat time, जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और तिथि है, होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, होलिका दहन का शुभ मुहूर्त कब से कब तक है, होलिका दहन शुभ मुहूर्त कब है, होली 2021 कब है, होली कितनी तारीख की है, होली कैसे मनाई जाती है, होली जलाने का शुभ मुहूर्त, होली जलाने का समय, होली रंगों का त्योहार है, होली विशेष










____ 
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

Holika Dahan 2021: राशि अनुसार करें होलिका दहन की पूजा, घर में आएगी खुशहाली


राशि अनुसार करें होलिका दहन की पूजा, घर में आएगी खुशहाली


हिंदू कैलेंडर के अनुसार, हर वर्ष फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होली का त्यौहार मनाया जाता है। इससे एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है। जिस दिन रंग खेला जाता है, उसे कहीं कहीं धुलेंडी भी कहा जाता है। इस वर्ष होली का त्यौहार (रंग खेलने वाला दिन धुलेंडी) 29 मार्च (सोमवार) को है। इससे एक दिन पहले यानी 28 मार्च (रविवार) को होलिका दहन होगा।

धार्मिक मांन्यता के अनुसार, होलिका दहन की रात का विशेष महत्व माना जाता है। होलिका दहन के समय बहुत ही ध्यान और सावधानी के साथ पूजा करनी चाहिए। ज्योतिषयों के अनुसार, इस साल होलिका दहन पर कई विशेष योग बन रहे हैं। इस बार होली पर अभिजीत मुहूर्त, ब्रह्म मुहूर्त, सर्वार्थ सिद्धि योग व अमृत योग बन रहे हैं जो कि लगभग सभी राशियों के लिए काफी फलदायी बताए जा रहे हैं। ऐसी मांन्यता है कि अगर शुभ योग में होलिका दहन और पूजा की जाती है तो घर में धन धान्य के भंडार तो भरते ही हैं वहीं जीवन में खुशहाली बनी रहती है।

होली स्पेशल 2021: दही गुझिया (Dahi Gujiya)


होली स्पेशल: दही गुजिया (Dahi Gujiya)


होली का त्यौहार देश भर पर बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। होली एक ऐसा पर्व है जो सभी को पसंद है। इस दिन तरह-तरह के पकवान बनाएं जाते हैं। होली पर गुझिया मुख्य रूप से बनाई जाती है। होली पर ढेर सारी गुझिया, मिठाईयां तला भोजन खाकर पेट और स्वाद तृप्त हो जाता है और फिर इसके बाद कुछ अलग खाने का मन करता है। ऐसे अवसर पर कांजी बड़ा और दही से बने खाद्य पदार्थ सर्वोत्तम माने जाते हैं।

गुझिया होली पर मुख्य रूप से बनाई जाती है। लेकिन इसके अलग-अलग रूप हैं और उन्हीं में एक दही गुझिया है जिसकी विधि आज हम आपको बता रहे हैं और यह सभी उम्र के लोगों को पसन्द आयेगी। यह उड़द दाल, दही, इमली और अन्य भारतीय मसालों से तैयार की जाती है। दही गुझिया, दही बड़ा जैसी ही होती है लेकिन ये आकार में गुझिया की तरह होती है और इसके अन्दर सूखे मेवे भरे जाते हैं। इस स्वादिष्ट दही गुझिया को बनाना बेहद ही आसान है कुछ ही मिनटों में आप इस को तैयार कर सकते हैं। 


तो आइये शुरू करते हैं उड़द दाल की गुझिया बनाना -

 

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Dahi Gujiya

उड़द की दाल - 200 ग्राम (एक कप)

नमक - स्वादानुसार (1/3 छोटी चम्मच)

किशमिश - 25-30 (वैकल्पिक)

चिरोंजी - एक टेबल स्पून (साफ कर लीजिये)

काजू - 15 (छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिये)

बादाम- 15 (छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिये)

नारियल पाउडर 1-2 टी स्पून   

तेल - गुझिया तलने के लिये

दही - 1 कि.ग्राम (4 कप)

नमक स्वादानुसार (एक छोटी चम्मच)

हरी चटनी - 1 छोटी कटोरी

मीठी चटनी - 1 छोटी कटोरी

लाल मिर्च - 1 छोटी चम्मच

भुना हुआ जीरा - 2 छोटी चम्मच

चाट मसाला - 2 छोटी चम्मच


होली स्पेशल दही गुझिया विधिः

दाल को साफ कीजिये धोकर 5-6 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये (पूरी रात भी पानी में भिगो सकते है)।

दाल का पानी निकालकर उसे चलनी में रख दीजिये और अतिरिक्त पानी को निकाल दीजिये।

भीगी हुई दाल को बिना पानी डाले मिक्सर से बारीक पीस कर गाढ़ा पेस्ट बना लीजिये। दही गुझिया के लिये दाल एकदम गाढ़ी होनी चाहिये।

पिसी हुई दाल को किसी बर्तन में निकाल लें और हाथ से फेंट लें। गुझिया बनाने के लिये दाल तैयार हो गयी है।

एक बाउल में काजू, चिरोंजी, किशमिश, बादाम और नारियल पाउडर को एक साथ मिला लीजिये।

कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये।

एक चकले के ऊपर धुला हुआ पतला गीला कपड़ा या रूमाल बिछा कर उस पर एक नीबू के बराबर दाल निकाल कर उसे कपड़े के ऊपर गोल करके रख दीजिये फिर पानी में भीगीं उंगलियों की सहायता से हल्के हाथों से मिश्रण को चपटे आकार में दबाते हुए पूरी की तरह गोल आकार में बड़ा कर लीजिये। इसके बीचों-बीच आधी चम्मच मेवे रखिये और कपड़े को दूसरे छोरे से मोड़ते हुए गुझिये को फोल्ड कर दीजिये। यह गुझिया तलने के लिये तैयार हो गई है।

तैयार गुझिया को गरम तेल में डालिये और पलट पलट कर हल्का ब्राउन होने तक तल लीजिये। इसी तरह से दूसरी गुझिया भी तैयार कीजिये और तल लीजिये। तली हुई गुझिया को निकाल कर प्लेट या थाली में रखिये। इसी तरह से सारी गुझिया बनाइये और तेल में डाल कर तल कर निकाल कर रखिये। सारी गुझिया बन कर तैयार हो गय़ीं हैं।

दही को चलनी में डाल कर या सूती कपड़े में बांधकर पानी निचोड़ दीजिये। गाड़े दही को फैट कर नमक मिला लीजिये।

एक बर्तन में इतना गरम पानी लीजिये कि उसमे गुझिया डूब जाएँ। पानी में स्वादानुसार नमक मिला कर 15-20 मिनट के लिए सारी गुझिया पानी में भिगोकर रख दीजिये ताकि ये सॉफ्ट हो जाएँ। जब गुझियां फूल जाय तो एक गुझिया निकाल कर हाथ पर रखिये दूसरे हाथ से दबाकर अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये, सारी गुझियां इसी तरह से निकाल कर प्लेट में रखिये।

अब इन गुझियों को दही में डुबा कर निकाल कर सर्विंग प्लेट में लगाइये, हरी चटनी और मीठी चटनी फैला दीजिये तथा ऊपर से भुना जीरा, लाल मिर्च और चाट मसाला छिड़किये। लीजिये उड़द दाल की स्वादिष्ट दही गुझिया खाने के लिये तैयार है।




टिप्स:

1. यदि पिसी दाल गाढ़ी नहीं हो तो इसमें थोड़ा बेसन भी मिला सकते हैं लेकिन अधिक बेसन मिलाने से दही गुझिया मुलायम नहीं बनतीं।

2. सर्व करते समय दही गुझिया को अनार के दानों और बारीक़ कटे हरे धनिये से गार्निश कर सकते हैं।







Tags: dahi gujiya banane ki recipe, dahi gujiya banane ki vidhi, dahi gujiya by sanjeev kapoor, dahi gujiya nishamadhulika, dahi gujiya recipe in hindi, holi special dahi gujiya recipe, holi special dishes in hindi, holi special food items, holi special food recipes in hindi, holi special gujiya recipe, holi special lunch recipes, holi special picture, holi special recipe in hindi, holi special youtube, special dishes on holi, special sweet on holi, what is holi special food, what makes holi special, दही की गुजिया, दही गुजिया बनाने की रेसिपी, दही गुजिया बनाने की विधि, होली स्पेशल मिठाई, होली स्पेशल रेसिपी इन हिंदी











____
99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

होली 2021 पर करें 15 अचूक उपाय, हर भय से मुक्ति पाएं

होली पर करें 15 अचूक उपाय, हर भय से मुक्ति पाएं

रंगों के त्यौहार होली का समस्त भारतीयों को बेसब्री से इंतजार रहता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार हर साल फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होली का त्यौहार मनाया जाता है। यह पर्व 2 दिन मनाया जाता है, एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है और जिस दिन रंग खेला जाता है उसे कुछ लोग धुलेंडी भी कहते हैं। 

साल में एक बार आने वाले होली के पर्व का हिंदू धर्म के साथ साथ ज्योतिष शास्त्र में भी बहुत महत्व है। कहा जाता है कि होली वाले दिन किए गए उपायों से सभी तरह की परेशानियां दूर हो जाती है साथ ही इनका फल अतिशीघ्र प्राप्त होता है। तो आइये जानते है उन उपायों के बारे में-

Mahashivratri 2021: शिवयोग में मनायें महाशिवरात्रि का पावन पर्व, भूलकर भी न करें 7 गलतियां



हिन्दू धर्म में महाशिवरात्रि को भगवान शिव के प्रति सच्‍ची आस्‍था और श्रृद्धा का पर्व माना जाता है। शिव जी को वरदान देने वाले देवता कहा जाता है, भगवान शिव अपने नाम भोलेनाथ के अनुसार बहुत ही भोले माने जाते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान भोलेनाथ का व्रत रखने से वो अत्यंत प्रसन्न हो जाते हैं और अपने भक्तों की सभी समस्याओं का समाधान करते हैं।

इस वर्ष 2021 में, यह महापर्व 11 मार्च को मनाया जायेगा। इस दिन सुबह 09 बजकर 22 मिनट तक महान कल्याणकारी 'शिवयोग' भी विद्यमान रहेगा। शिव योग को स्वयं भगवान शिव से आशीर्वाद प्राप्त है। यह त्यौहार भगवान शिव और पार्वती माता के विवाहोत्सव के रूप में मनाया जाता है।

Budh Rashi Parivartan 2021: महाशिवरात्रि पर बुध का राशि परिवर्तन चमकेंगी यह 5 राशियाँ


Budh Rashi Parivartan 2021: महाशिवरात्रि पर बुध का राशि परिवर्तन चमकेंगी यह 5 राशियाँ

हिन्दुओं के प्रमुख त्यौहारों में से महाशिवरात्रि भगवान शिव का एक प्रमुख त्यौहार है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2021) पर्व मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि का प्रारंभ इसी दिन से हुआ। इसी दिन भगवान शिव का विवाह देवी पार्वती के साथ हुआ था। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा अराधना की जाती है।

इस साल महाशिवरात्रि 11 मार्च गुरुवार को पड़ रही है। लेकिन इस साल की महाशिवरात्रि काफी खास है। ज्योतिष गणना के अनुसार, बुध ग्रह 11 मार्च को दोपहर 12 बजकर 25 मिनट पर मकर राशि से कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहा है। इसके बाद बुध 31 मार्च तक इसी राशि में विराजमान रहने वाले हैं। महाशिवरात्रिके शुभ अवसर पर बुध का यह राशि परिवर्तन काफी अच्छा माना जा रहा है। ज्योतिषविदों के अनुसार, मेष, मिथुन, सिंह, वृश्चिक और धनु राशि के लोगों के लिए ये गोचर शुभ हो सकता है, उनकी किस्मत का ताला खुल सकता है।

आइए जानते है बुध के राशि परिवर्तन से आपकी राशि पर क्या असर पड़ेगा-

 

मेष-

इस राशि के लोगों के लिए बुध का यह गोचर काफी लाभदायक रहने वाला है। आर्थिक पक्ष में मजबूती आएगी और आपकी कड़ी मेहनत का आपको फल मिलेगा। इस राशि के लोगों के जीवन में किसी खास का व्यक्ति के आने की संभावना है। आप काम के सिलसिले में छोटी दूरी की यात्राएं भी कर सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्राओं के लिए यह समय शुभ रहेगा।


वृषभ-


इन राशि के लोगों को कार्यक्षेत्र में वृद्धि और सफलता मिलने की संभावना है। बुध गोचर के चलते आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। इस समय किया गया निवेश आपके लिए फायदेमंद रहेगा। समाज में मान सम्मान बढ़ेगा। माता-पिता के साथ संबंधों में मधूरता आएगी।