99advice search

Top News


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download

At the starting of the spring season, Basant Panchami or Vasant Panchami is seen as an occasion of reestablishment, fresh starts, and blissfulness. It is a day that indicates the end of the winter season and the arrival of the spring season, As per Hindu mythology, Basant Panchami is dedicated to Maa Saraswati, who is the Goddess of music, arts, science, knowledge and discovered the Sanskrit language. On this festival day, people do worship and honored the Devi Saraswati.

In India, people celebrate Basant Panchami according to their regions and with great enthusiasm. Saraswati Puja is performed for a single day. Saraswati Puja is grandly celebrated in many schools and colleges all over the country. Yellow color holds special significance on this day and people normally dress up in yellow-colored clothes and make the same colored sweets and food like sweet saffron rice, Kesari sheera, Boondi ke laddoo, Rajbhog, etc. The Goddess herself is dressed in yellow and is offered, sweets, fruits, roli, moli and yellow-colored flowers. Cultural programs are hosted at night.


Saraswati Puja Wishing Image Photo:-

Here you can find the best collection of Saraswati puja wishing images in Hindi and English. All Saraswati puja wishes photos have best wishes and quotes. Select the suitable Saraswati Puja or Vasant Panchami (Maa Saraswati) Photos. Download HD Quality images and share on Facebook and Whatsapp group and other social media networks as you like, it's totally free.


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Happy Basant Panchami Images Facebook & Whatsapp status, Free Download


Holi 2020: इन उपायों से चमकाएं अपना भाग्य

holi 2020 maa lakshmi k upay money problems totke


होली इस बार 10  मार्च को खेली जाएगी। इससे पहले 9 मार्च  होलिका दहन होगा। होली की रात तो वैसे भी पूजा और ज्योतिष के उपाय करने के लिए बहुत शुभ मानी जाती है। इस दिन आप कुछ उपाय कर अपना भाग्य चमका सकते है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक इस रात को साधना करने से जल्दी ही शुभ फल मिल जाता है।
अच्छी सेहत के लिए
यदि सेहत बार-बार खराब होती हो तो होलिका दहन के बाद उसकी बची राख यानि भभूत को रोगी के तकिये के नीचे रख दें। इस उपाय को करने से पुरानी से पुरानी बीमारी ठीक हो जाएगी। 
धन बचाने के लिए
यदि पैसों की बचत न हो पा रही हो तो होलिका दहन के दूसरे दिन कि बची राख को किसी लाल रूमाल में बांध लें और उसे अपनी तिजोरी या पर्स में रख लें. इस टोटके से आपको फायदा मिलेगा. 


2020 Festivals List: जानिए कब मनाये जायेंगे साल 2020 के व्रत एवं त्यौहार
नौकरी व व्यापार की परेशानी
यदि आपको व्यापार व नौकरी में परेशानी आ रही हो तो होलिक दहन के बाद एक जटा वाला नारियल मंदिर या होलिका दहन वाली जगह पर जरूर चढ़ाएं।
बुरी नजर से रक्षा के लिए
होलिका दहन के अगले दिन होलिका की राख से पुरुष तिलक लगाएं और स्त्रियां ये राख अपनी गर्दन पर लगाएं। इस उपाय से सभी प्रकार की बुरी नजर से रक्षा हो सकती है।
धन लाभ के लिए
होली दहन के समय परिवार के सभी सदस्यों को होलिका की तीन या सात परिक्रमा करनी चाहिए। परिक्रमा करते समय होलिका में चना, मटर, गेहूं, अलसी डालना चाहिए। ऐसा करने पर स्वास्थ्य लाभ के साथ ही धन लाभ होने के योग भी बनते हैं।
इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।



साल का पहला चंद्र ग्रहण 10 जनवरी को पौष पूर्णिमा (Paush Purnima 2020) के दिन लगने जा रहा है, जिसे लगने में अब कुछ घंटे ही शेष रह गए हैं। जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीध में आ जाते हैं, तो पृथ्वी की वजह से चंद्र पर सूर्य की किरणें नहीं पहुंचती हैं। तब पृथ्वी की छाया पूरी तरह से चंद्रमा पर पड़ती है। इस स्थिति को चंद्र ग्रहण कहते हैं।

भारतीय समय अनुसार, यह ग्रहण रात 10 बजकर 37 मिनट से लेकर 11 जनवरी को देर रात 2 बजकर 42 मिनट तक बना रहेगा। इस चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 4 घंटे से भी ज्यादा रहने वाली है। इस ग्रहण को भारत के साथ-साथ यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, एशिया, अफ्रीका के देशों में भी देखा जा सकेगा।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण का हर राशि पर अच्छा या बुरा असर देखने को मिलता है। साल का पहला चंद्र ग्रहण मिथुन राशि और पुनर्वसु नक्षत्र में लगेगा। इस चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा मिथुन राशि में विराजमान रहने वाले हैं। जिसकी वजह से मिथुन राशि के जातकों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। यूं तो यह उपछाया चंद्रग्रहण है जिसका बहुत प्रभाव नहीं होता है क्योंकि इसमें चंद्रमा की काला छाया पृथ्वी पर नहीं पड़ती है।

आइए जानते हैं कि ज्योतिष के नजरिये से ये चंद्र ग्रहण कितना खास है और इस पहले चंद्र ग्रहण का सभी राशियों पर चंद्र ग्रहण का क्या प्रभाव पड़ेगा—

चंद्र ग्रहण 2020 हर राशि पर पड़ेगा ऐसा प्रभाव-

मेष राशि-
आपके लिए ये ग्रहण मिला जुला फल देगा। रुके हुए काम पूरे होंगे। परन्तु रुपये के लेनदेन में सावधानी बरतें। पराक्रम में वृद्धि होगी। करियर में बदलाव हो सकता है। यात्रा से लाभ मिलेगा। 

वृषभ राशि- 
समय विचित्र संयोग लेकर आ रहा है। कभी मुस्कुरा रहा है, कभी कसमसा रहा है। परिवार में हर्षोल्लास का माहौल बना रहेगा। लेकिन संतान की सेहत को लेकर चिंता रहेगी। धन संबंधी परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं। वाणी पर खास संयम बरतना होगा। 

मिथुन राशि- 
चंद्र ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव मिथुन राशि पर ही देखने को मिलेगा। मिथुन राशि के लिए चंद्र ग्रहण अच्छा प्रभाव लेकर नहीं आया है। इस राशि के लोगों को अनावश्यक उलझने व शारीरिक कष्ट हो सकता है। जीवन साथी के साथ संबंधों में भी खटास उत्पन्न होगी। धन के मामलों में सावधानी रखें।

कर्क राशि- 
कर्क राशि के जातकों के लिए चंद्र ग्रहण बेहद प्रभावशाली रहने वाला है। ग्रहण की वजह से खर्च में बढ़ोत्तरी हो सकती है या फिर अचानक से किसी यात्रा पर जाना पड़ सकता है। इस समय रुके हुए काम पूरे हो सकते हैं। कुछ नया करने की सोच रहें हैं, तो यह समय सही है।

सिंह राशि-
चंद्र ग्रहण से सिंह राशि के जातकों को अप्रत्‍याशित लाभ मिलेगा। रुके हुए काम पूरे होंगे, साथ ही इस राशि के जातकों के लिए धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। इस समय जहां तक संभव हो, किसी भी तरह के विवाद की स्थिति से बचें और थोड़ा अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें।

कन्या राशि- 
कन्या राशि के जातकों के लिए इस ग्रहण का असर मिला जुला रहने वाला है। लंबे समय से चली आ रही परेशानियां दूर होगीं। करियर में परेशानी आ सकती है। इस राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

तुला राशि-
इस राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण कुछ अच्छा समय लेकर नहीं आ रहा है। ग्रहण की वजह से इस राशि के लोगों के काम बिगड़ सकते हैं। करियर में अचानक समस्या आ सकती है। अनावश्यक वाद-विवाद से बचना होगा। अपनी संपत्ति के मामलों में सावधानी रखें।

वृश्चिक राशि- 
इस राशि के लोगों को इस दौरान विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। वृश्चिक राशि के जातक उधार देने से बचें क्योंकि यह चंद्र ग्रहण किसी दुर्घटना और धन हानि के योग बना रहा है। करियर में सफलता मिलने की पूरी संभावना है।

धनु राशि-
चंद्र ग्रहण का असर इस राशि के जातकों के रिश्‍तों पर पड़ने की सम्भावना है। धनु राशि वाले लोग किसी भी तरह के वाद-विवाद से बचें और अपनी जॉब को लेकर गंभीर रहें।

मकर राशि-
मकर राशि के जातकों पर इस ग्रहण का अच्छा प्रभाव पड़ेगा। धन लाभ और करियर में सफलता के योग हैं और बड़ी समस्याओं का समाधान होने की संभावना है। परिवार में हर्षोल्लास का माहौल होगा लेकिन आपको अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा।

कुंभ राशि- 
कुंभ राशि के लोगों पर इस ग्रहण का मिलाजुला असर पड़ेगा। करियर में बड़े परिवर्तन के योग हैं, यदि लंबे समय से किसी योजना पर लगे हैं तो उसमें सफलता मिलने का योग है। धन लाभ की स्थिति बन रही है। प्रेम संबंध भी ठीक रहेंगे।

मीन राशि-
इस राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण मिले जुले परिणाम बना रहा है। इस दौरान एक तरफ मीन राशि के लोगों लिए व्यापार में सफलता के योग बनते नजर आ रहे हैं तो दूसरी तरफ उनका स्‍वास्‍थ्‍य खराब रहने की संभावना है। लेन-देन करते समय सावधानी बरतें। करियर में आकस्मिक समस्याएं आ सकती हैं और अनावश्यक अपयश मिल सकता है।  













Tags: 10 january 2020 chandra grahan timing in hindi, 10th january 2020 lunar eclipse, cancer lunar eclipse 2020, chandra grahan 2020 affected rashi, chandra grahan 2020 astrology, chandra grahan 2020 bharat mein kab lagega, chandra grahan 2020 duration, chandra grahan 2020 effects on rashi, chandra grahan 2020 for pregnant ladies, chandra grahan 2020 for which rashi, chandra grahan 2020 horoscope, chandra grahan 2020 kab se kab tak, chandra grahan 2020 me pregnant lady kya kare, chandra grahan 2020 mithun rashi, chandra grahan 2020 rashifal, chandra grahan 2020 start and end time, chandra grahan 2020 sutak time in india, chandra grahan 2020 which country, chandra grahan 2020 which rashi effect, first lunar eclipse of 2020, is lunar eclipse 2020 visible in india, lunar eclipse 2020 effects on zodiac signs, lunar eclipse 2020 for libra, lunar eclipse chandra grahan 2020, चंद्र ग्रहण 10 जनवरी 2020









____
 99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."

मकर संक्रांति राशि के अनुसार करें दान-पुण्य


हिंदू धर्म में मकर संक्रांति एक प्रमुख पर्व है। लोहड़ी के बाद पूरे भारत में मकर सक्रांति 2020 (Makar Sankranti 2020) मनाई जाती है। ज्योतिष के अनुसार मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है| सूर्य के एक राशि से दूसरी में प्रवेश करने को संक्रांति कहते हैं| दरअसल मकर संक्रांति में 'मकर' शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि 'संक्रांति' का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है| चूंकि सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं, इसलिए इस समय को 'मकर संक्रांति' कहा जाता है| मकर संक्रान्ति पर्व को कहीं-कहीं उत्तरायण भी कहा जाता है| इस दिन गंगा स्नान कर व्रत, कथा, दान और भगवान सूर्यदेव की उपासना करने का विशेष महत्त्व है|


भारत के विभिन्न क्षेत्रों में इस त्यौहार को स्थानीय मान्यताओं के अनुसार मनाया जाता है। हर वर्ष सामान्यत: मकर संक्रांति 14 जनवरी को मनाई जाती है। इस दिन सूर्य उत्तरायण होता है, जबकि उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार इसी दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है।परन्तु इस साल मकर सक्रांति 15 जनवरी को मनाई जा रही है।

ज्यादातर हिंदू त्यौहारों की गणना चंद्रमा पर आधारित पंचांग के द्वारा की जाती है लेकिन मकर संक्रांति पर्व सूर्य पर आधारित पंचांग की गणना से मनाया जाता है। इस साल की मकर संक्रांति का नाम महोदर है। बुधवार दिनांक 15-01-2020 को पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में संक्रांति मनाई जाएगी। इस योग में दान-पुण्य करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। जैसा कि निम्न श्लोक से स्पष्ट होता है-

माघे मासे महादेव: यो दास्यति घृतकंबलम।
स भुक्त्वा सकलान भोगान अंते मोक्षं प्राप्यति।


आज इस लेख के द्वारा, मैं आपको इस दिन राशि अनुसार किस वस्तु का दान करने से व्यक्ति को पुण्य फल की प्राप्ति के साथ उसका 100 गुना वापस मिलता है, के बारे में जानकारी दे रहीं हूँ। तो आइए जानते हैं--

राशि के अनुसार करें दान-पुण्य: 

1. मेष

मकर संक्रांति राशि के अनुसार करें दान-पुण्य

इस राशि के लोग जल में पीले पुष्प, हल्दी, तिल मिलाकर अर्घ्य दें। इसके साथ ही तिल-गुड़ का दान करें, उच्च पद की प्राप्ति की संभावना है।

2. वृष

मकर संक्रांति राशि के अनुसार करें दान-पुण्य

वृष राशि के लोग, जल में सफेद चंदन, दूध, सफेद फूल और तिल डालकर सूर्य को जल चढ़ायें। बड़ी जिम्मेदारी मिलने के योग बनेगें।

3. मिथुन

मकर संक्रांति राशि के अनुसार करें दान-पुण्य

इस राशि के लोग जल में तिल, दूर्वा तथा पुष्प मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। मूंग की दाल की खिचड़ी दान दें। ऐसा करने से ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी।

4. कर्क

मकर संक्रांति राशि के अनुसार करें दान-पुण्य

कर्क राशि के लोग जल में दूध, चावल, तिल मिलाकर सूर्य को जल चढ़ायें। साथ ही चावल-मिश्री-तिल का दान दें। यह उपाय करने से, कलह-संघर्ष, व्यवधानों पर रोक लगेगी।

2020 Festivals List: जानिए कब मनाये जायेंगे साल 2020 के व्रत एवं त्यौहार

दोस्तोँ, नववर्ष 2020 का शुभागमन होने वाला है। सब लोग नए साल का स्वागत अपने-अपने अंदाज में करेंगे। नये साल 2020 में एक बार फिर व्रत और त्यौहार हमारे जीवन में खुशियां ही खुशियां भर देंगे। जहाँ वर्षभर में आने वाले कई महत्वपूर्ण व्रत हमें स्वयं को ईश्वर से जोड़ने का माध्यम बनते हैं, वहीँ त्यौहार रोजमर्रा की जिंदगी में एक नया उमंग और उल्लास भर देते हैं। इन दिनों में हम अपने सभी दुखों को भूल जाते हैं और एक दूसरे के साथ खुशियां मनाते हैं।

नये साल में कौन-कौन से व्रत एवं त्यौहार पड़ेंगे, यह जानने के लिये हर कोई उत्सुक होता है। जिससे उन्हें किसी भी व्रत को करने या किसी भी त्यौहार को मनाने में किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। किसी भी व्रत को करने के लिए सही तिथि का जानना बेहद आवश्यक है। नए साल के त्यौहारों की शुरुआत पौष पुत्रदा एकादशी व्रत के साथ होगी, जो 06 जनवरी को रखा जायेगा। इसी के साथ जनवरी 2020 में लोहड़ी, संकष्टी चतुर्थी, मकर संक्रांति, पोंगल और बसंत पंचमी जैसे त्यौहार भी पड़ेंगे। मकर संक्रांति के दिन से ही शादी-ब्याह और अन्य मांगलिक कार्य भी शुरू हो जाते हैं। इसी के साथ, जनवरी में ही शनि ग्रह का राशि परिवर्तन भी हो रहा है। इसलिए हम आपको इस साल में पड़ने वाले सभी व्रत और त्यौहारों के बारे में बताएंगे।

तो आइए जानते हैं कि नए वर्ष 2020 के व्रत एवं त्यौहार किस दिन और किस तारीख को पड़ रहे हैं। इन त्यौहारों में मकर संक्रांति, होली, ईद, गुड फ्राइडे, महाशिवरात्रि, रक्षाबंधन, नवरात्रि, दशहरा, दिवाली, बकरीद, क्रिसमस शामिल हैं।


व्रत एवं त्यौहार कैलेंडर 2020 की पूरी सूची


जनवरी 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 जनवरी बुधवार नववर्ष आरंभ
06 जनवरी सोमवार पौष पुत्रदा एकादशी
08 जनवरी बुधवार प्रदोष व्रत (शुक्ल)
10 जनवरी शुक्रवार चंद्रग्रहण, शाकंभरी पूर्णिमा, पौष पूर्णिमा व्रत
13 जनवरी सोमवार संकष्टी चतुर्थी, लोहड़ी
15 जनवरी बुधवार पोंगल, उत्तरायण, मकर संक्रांति
20 जनवरी सोमवार षटतिला एकादशी
22 जनवरी बुधवार प्रदोष व्रत (कृष्ण)
23 जनवरी गुरुवार मासिक शिवरात्रि
24 जनवरी शुक्रवार माघ अमावस्या
28 जनवरी मंगलवार अष्ट विनायक चतुर्थी
29 जनवरी बुधवार बसंत पंचमी, सरस्वती पूजा



फरवरी 2020 के व्रत एंव त्यौहार

05 फरवरी बुधवार जया एकादशी
06 फरवरी गुरुवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
09 फरवरी रविवार माघ पूर्णिमा व्रत
12 फरवरी बुधवार गणेश संकष्टी चतुर्थी
13 फरवरी गुरुवार कुम्भ संक्रांति
19 फरवरी बुधवार विजया एकादशी
20 फरवरी गुरुवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
21 फरवरी शुक्रवार महाशिवरात्रि, मासिक शिवरात्रि
23 फरवरी रविवार फाल्गुन अमावस्या
24 फरवरी सोमवार भक्त शबरी जयंती
25 फरवरी मंगलवार- रामकृष्ण जयंती
27 फरवरी गुरुवार- विनायक चतुर्थी व्रत


मार्च 2020 के व्रत एंव त्यौहार

03 मार्च मंगलवार होलाष्टक प्रारंभ, संत दादू दयाल जयंती
06 मार्च शुक्रवार आमलकी एकादशी
07 मार्च शनिवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
09 मार्च सोमवार होलिका दहन, फाल्गुन पूर्णिमा व्रत
10 मार्च मंगलवार होली
12 मार्च गुरुवार संकष्टी चतुर्थी
14 मार्च शनिवार मीन संक्रांति
19 मार्च गुरुवार पापमोचिनी एकादशी
21 मार्च शनिवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
22 मार्च रविवार मासिक शिवरात्रि
24 मार्च मंगलवार चैत्र अमावस्या
25 मार्च बुधवार चैत्र नवरात्रि, उगाडी, घटस्थापना, गुड़ी पड़वा, भगवान झूलेलाल जयंती
26 मार्च गुरुवार चेटी चंड
27 मार्च शुक्रवार गौरी पूजा, गणगौर
28- मार्च शनिवार- मासिक विनायक चतुर्थी
30 मार्च सोमवार यमुना छठ


2020 Festivals List: जानिए कब मनाये जायेंगे साल 2020 के व्रत एवं त्यौहार

अप्रैल 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 अप्रैल बुधवार दुर्गा महाष्टमी
02 अप्रैल गुरुवार राम नवमी
03 अप्रैल शुक्रवार चैत्र नवरात्रि पारणा
04 अप्रैल शनिवार कामदा एकादशी
05 अप्रैल रविवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
08 अप्रैल बुधवार हनुमान जयंती, चैत्र पूर्णिमा व्रत
11 अप्रैल शनिवार संकष्टी चतुर्थी
13 अप्रैल सोमवार मेष संक्रांति
18 अप्रैल शनिवार वरुथिनी एकादशी
20 अप्रैल सोमवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
21 अप्रैल मंगलवार मासिक शिवरात्रि
22 अप्रैल बुधवार वैशाख अमावस्या
26 अप्रैल रविवार अक्षय तृतीया
30 अप्रैल गुरुवार गंगा सप्तमी


मई 2020 के व्रत एंव त्यौहार

02 मई शनिवार सीता नवमी
03 मई रविवार मोहिनी एकादशी
04 मई सोमवार मोहिनी एकादशी
05 मई मंगलवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
07 मई गुरुवार वैशाख पूर्णिमा व्रत, बुद्ध पूर्णिमा
10 मई रविवार संकष्टी चतुर्थी
14 मई गुरुवार वृष संक्रांति
18 मई सोमवार अपरा एकादशी
19 मई मंगलवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
20 मई बुधवार मासिक शिवरात्रि
22 मई शुक्रवार ज्येष्ठ अमावस्या, शनि जयंती, वट सावित्री व्रत
24 मई रविवार ईद उल फित्र


जून 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 जून सोमवार गंगा दशहरा
02 जून मंगलवार निर्जला एकादशी
03 जून बुधवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
05 जून शुक्रवार ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत
06 जून शनिवार चंद्र ग्रहण
08 जून सोमवार संकष्टी चतुर्थी, सूर्य ग्रहण
14 जून रविवार मिथुन संक्रांति
17 जून बुधवार योगिनी एकादशी
18 जून गुरुवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
19 जून शुक्रवार मासिक शिवरात्रि
21 जून रविवार आषाढ़ अमावस्या
23 जून मंगलवार जगन्नाथ रथ यात्रा
24 जून बुधवार मासिक विनायक चतुर्थी


2020 Festivals List: जानिए कब मनाये जायेंगे साल 2020 के व्रत एवं त्यौहार


जुलाई 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 जुलाई बुधवार देवशयनी एकादशी, अषाढ़ी एकादशी
02 जुलाई गुरुवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
05 जुलाई रविवार गुरु-पूर्णिमा, आषाढ़ पूर्णिमा व्रत, चंद्र ग्रहण
06 सोमवार सावन मास प्रारंभ पहला सावन सोमवार व्रत
08 जुलाई बुधवार संकष्टी चतुर्थी
16 जुलाई गुरुवार कामिका एकादशी, कर्क संक्रांति
18 जुलाई शनिवार मासिक शिवरात्रि, प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
20 जुलाई सोमवार सोमवती अमावस्या
23 जुलाई गुरुवार हरियाली तीज
25 जुलाई शनिवार नाग पंचमी
30 जुलाई गुरुवार श्रावण पुत्रदा एकादशी
31 जुलाई शुक्रवार बकरा ईद


अगस्त 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 अगस्त शनिवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)
03 अगस्त सोमवार रक्षा बंधन, श्रावण पूर्णिमा व्रत
06 अगस्त गुरुवार कजरी तीज
07 अगस्त शुक्रवार संकष्टी चतुर्थी
12 अगस्त बुधवार जन्माष्टमी
15 अगस्त शनिवार स्वतन्त्रता दिवस, अजा एकादशी
16 अगस्त रविवार प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष), सिंह संक्रांति
17 अगस्त सोमवार मासिक शिवरात्रि
19 अगस्त बुधवार भाद्रपद अमावस्या
21 अगस्त शुक्रवार हरतालिका तीज
22 अगस्त शनिवार गणेश चतुर्थी, गणेश उत्सव प्रारंभ
29 अगस्त शनिवार परिवर्तिनी एकादशी
30 अगस्त रविवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष), मुहर्रम (ताजिया)
31 अगस्त सोमवार ओणम/थिरुवोणम


सितम्बर 2020 के व्रत एंव त्यौहार

01 सितम्बर मंगलवार अनंत चतुर्दशी, गणेश विसर्जन
02 सितम्बर बुधवार भाद्रपद पूर्णिमा व्रत, पितृ पक्ष प्रारंभ
05 सितम्बर शनिवार संकष्टी चतुर्थी
13 सितम्बर रविवार इन्दिरा एकादशी
15 सितम्बर मंगलवार मासिक शिवरात्रि, प्रदोष व्रत (कृष्ण पक्ष)
16 सितम्बर बुधवार कन्या संक्रांति
17 सितम्बर गुरुवार अश्विन या पितृमोक्ष अमावस्या, पितृपक्ष समाप्त
27 सितम्बर रविवार पद्मिनी एकादशी
29 सितम्बर मंगलवार प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष)


2020 Festivals List: जानिए कब मनाये जायेंगे साल 2020 के व्रत एवं त्यौहार