नवरात्रि शुरू होने वाले है और इस बार शारदीय नवरात्री 21 सितम्बर से शुरू हो रहे है और इस बार नवरात्रि का विशेष सयोग है।

नवरात्रि शुरू होने वाले है और इस बार शारदीय नवरात्री 21 सितम्बर से शुरू हो रहे है और इस बार नवरात्रि का विशेष सयोग है।



शारदीय नवरात्र की शुरूआत होने वाली है नवराति की तयारी पहले से ही शुरू कर देनी चाहिए जिसे की बाद में किसी चीज की भूल चूक ना हो 21 सितम्बर से ही कलश स्थापना और अखंड जोत शुरू की जाती है। 

इस बार इस नवरात्री में 12 साल बाद ऐसा सयोग है और इस दिन गुरूवार भी रहेगा इस दिन घट स्थापना के लिए शुभ मुहर्त 11 बजकर 45 मिनट से 12 :30 बजे रहेगा जिसे विशेष लाभ मुहर्त भी बताया गया है

इस बार गुरूवार को नवरात्रि शुरू होना इसलिए भी शुभ माना गया है क्योकि गुरूवार को शुभ की चौघड़िया और कन्या लग्न में नवरात्रि का प्रारंभ और कलश पूजन बहुत ही शुभदायक होता है। 




कलश स्थापना के शुभ मुहूर्त


21 सितंबर 2017 से नवरात्रि का शुभ पर्व आरंभ हो रहा है। जानिए कलश स्थापना के शुभ मुहूर्त। इन शुभ मुहूर्त में आप कर सकते हैं नवरात्रि के मंगल कलश की स्थापना।

शुभ मुहूर्त

प्रात: 6.16 से 7.47 तक शुभ मुहूर्त हैं। 


दोपहर 12.20 से 13.51 तक लाभ के चौघडिया में भी स्थापना की जा सकती है। 

दोपहर 13.51 यानी 1 बजकर 51 मिनट से 15.22 यानी 3 बजकर 22 मिनट तक अमृत का सर्वश्रे‍ष्ठ मुहूर्त है। यह घटस्थापना के लिए सर्वोत्तम समय है। लेकिन जो लोग राहुकाल मानते हैं वे इस मुहूर्त में स्थापना न करें.|क्योंकि इस समय राहुकाल 1.30 से 3.00 बजे तक रहेगा 

शाम 4.53 से 6.23 तक शुभ मुहूर्त है, फिर 6.23 से 7.53 तक अमृत का मंगल मुहूर्त फिर से होगा, जो घटस्थापना हेतु सबसे उत्तम समय है। 

अपनी सुविधानुसार इस समयावधि में घटस्थापना कर सकते हैं। कलश स्थापना का विजय मुहूर्त 12.07 से 12.31 तक है 

  ____
Share To:

Abhishek bhatnagar

Post A Comment:

0 comments so far,add yours