निर्जला एकादशी व्रत साल 2019 में 13 जून को मनाई जा रहीं हैं।



हिन्दू पंचाग के अनुसार प्रत्येक महीने में दो एकादशियां होती हैं, एक कृष्ण पक्ष और दूसरी शुक्ल पक्ष में आती है। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है। प्रत्येक एकादशी में भगवान विष्णु के लिये व्रत रखने और उनकी पूजा करने का विधान है। परन्तु सभी एकादशियों में ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की  एकादशी का अपना एक महत्वपूर्ण स्थान है।


हिन्दू कैलेंडर में  ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी  निर्जला एकादशी कहलाती है। यह एकादशी पांडव एकादशी या भीमसेन एकादशी के नाम से भी जानी जाती है। पौराणिक मान्यता है कि महाभारत के समय पाँच पाण्डवों में एक  भीमसेन ने इस कठिन व्रत को निर्जला उपवास किया और स्वर्गलोक को गये इसलिए इसका नाम भीमसेनी एकादशी भी हुआ।


इस एकादशी व्रत में पानी पीना वर्जित माना जाता है इसलिए इस एकादशी को निर्जला कहते है। निर्जला एकादशी पर निर्जल रहकर भगवान विष्णु की आराधना की जाती है। निर्जला एकादशी का व्रत कर लेने से अधिकमास की दो एकादशियों सहित साल की 26 एकादशी व्रत का फल मिलता है और सभी तीर्थों के बराबर पुण्य लाभ होता है। यह व्रत बहुत कठिन होता है क्योंकि बिना अन्न और जल के किया जाता है। लेकिन इस  दिन मीठे जल का दान करने का विधान बनाया गया है


इस व्रत के दिन भगवान श्री हरि विष्णु के प्रिय मंत्र ऊँ नमो भगवते वासुदेवायः का जाप भी किया जाता है।


निर्जला एकादशी के दिन व्रत करने से सभी तीर्थों में स्नान के समान पुण्य मिलता है। इस दिन क्षमता के अनुसार मीठे पानी से भरा हुआ मटका, मौसम के अनुसार फल, अन्न, आसन, छतरी, पंखा मंदिर में या किसी ब्राह्मण को या किसी जरूरतमंद को देने से बहुत पुण्य लाभ के साथ-साथ सभी पापों का नाश भी होता है।



निर्जला एकादशी पर सूर्य उदय से पहले उठे।

यह व्रत मन को संयम सिखाता है और शरीर को नई ऊर्जा देता है। यह व्रत पुरुष और महिलाओं दोनों द्वारा किया जा सकता है।

एकादशी के पूजा पाठ में सामग्री शुद्ध और साफ ही प्रयोग में लाएं।


निर्जला एकादशी के व्रत विधान में परिवार में शांतिपूर्वक माहौल बनाए रखें तथा घर में लहसुन प्याज और तामसिक भोजन बिल्कुल भी ना बनाएं।



दोस्तों, निर्जला एकादशी के पावन अवसर पर श्री हरि विष्णु की कृपा हम सब पर बनी रहे।



जय श्री हरि!!





















Tags: nirjala ekadashi daan in hindi, nirjala ekadashi date and time, nirjala ekadashi fast katha in hindi, nirjala ekadashi fast rules in hindi, nirjala ekadashi festival, nirjala ekadashi history in hindi, nirjala ekadashi in 2019, nirjala ekadashi kab aati hai, nirjala ekadashi ke baare mein bataye, nirjala ekadashi ke fayde in hindi, nirjala ekadashi ke upay, nirjala ekadashi kis tarikh ko hai, nirjala ekadashi mahatmya in hindi, nirjala ekadashi muhurat, nirjala ekadashi par kya daan kare, nirjala ekadashi significance, nirjala ekadashi puja vidhi, nirjala ekadashi today, what is निर्जला एकादशी, why nirjala ekadashi celebrated, निर्जला एकादशी 2019, निर्जला एकादशी ke upay, निर्जला एकादशी का महत्व, निर्जला एकादशी का व्रत, निर्जला एकादशी क्यों मनाई जाती है, निर्जला एकादशी क्यों होती है













____
99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."
Share To:

Sumegha Bhatnagar

Post A Comment:

0 comments so far,add yours