हिंदू पर्व अक्षय तृतीया को एक पावन पर्व माना जाता है। अक्षय तृतीया वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीय तिथि को मनाई जाती है। इस वर्ष 7 मई 2019 को अक्षय तृतीया है। अक्षय तृतीया के पर्व पर लोग धन जी देवी लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं। इस दिन दिया गया दान और मिलने वाला पुण्य अक्षय रहता है, अर्थात् वह कभी नष्ट नहीं होता है।


हिंदू पर्व अक्षय तृतीया को एक पावन पर्व माना जाता है। किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत लोग उसके सफल होने की उम्मीद के साथ ही करते हैं। ऐसे में एक ऐसा शुभ दिन आ रहा है, जब आप अपने हर शुभ कार्य की शुरुआत कर सकते हैं। अक्षय तृतीया वैशाख मास के शुक्‍ल पक्ष की तृतीय तिथि को मनाई जाती है। अक्षय का शाब्दिक अर्थ है जिसका कभी क्षय ना हो अर्थात जो स्थाई बना रहे। स्थाई वहीं रह सकता जो सर्वदा सत्य है। यह बातें निश्चित रूप से कही जा सकती है कि सत्य केवल परमात्मा ही है जो अक्षय, अखंड और व्यापक है। यह अक्षय तृतीया तिथि ईश्वर तिथि है। इस वर्ष 7 मई 2019 को अक्षय तृतीया है। इस तिथि को आखातीज भी  कहते हैं।


अक्षय तृतीया के पर्व पर लोग धन जी देवी लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं। मान्यता है कि इस दिन देवता कुबेर जी ने देवी लक्ष्मी जी से धन प्राप्ति के लिए प्रार्थना करी थी जिससे प्रसन्न हो कर लक्ष्मी जी ने उन्हें धन और सुख-समृद्धि से संपन्न किया था।


पुराणों में बताया गया है कि यह बहुत ही पुण्यदायी तिथि है इसदिन किए गए दान पुण्य के बारे में मान्यता है कि जो कुछ भी पुण्यकार्य इस दिन किए जाते हैं उनका फल अक्षय होता है यानी कई जन्मों तक इसका लाभ मिलता है। शास्त्रों के अऩुसार अक्षय तृतीया बहुत ही शुभ दिन है, अतः विवाह आदि के लिए इस दिन पंचांग देखने की जरूररत नहीं पड़ती। इस दिन बिना मुहूर्त के भी विवाह कर सकते हैं। पितरों की शांति के लिए अक्षय तृतीया को बहुत विशेष माना जाता है।






हिंदू धर्म में अक्षय तृतीया को मनाने को लेकर कई मान्यताएं हैं। माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही पीतांबरा, नर-नारायण, हयग्रीव और परशुराम के अवतार हुए हैं। शास्त्रों के अनुसार त्रेता युग का आरंभ अक्षय तृतीया को ही हुआ है। सुदामा ने श्रीकृष्ण से चावल अक्षया तृतीया के दिन ही प्राप्त किए थे।


शास्त्रों के अनुसार अक्षय तृतीया पर्व के दिन स्नान, होम, जप, दान आदि का अनंत फल मिलता है। इसलिए भारतीय संस्कृति में इसका बड़ा महत्व है। शास्त्र में उल्लेखित है कि आज के दिन स्वर्ण की खरीदारी भी करनी चाहिए। धन योग और धन-संपदा में वृद्धि का योग भी बनता है। इस तिथि को व्यापार आरम्भ, गृहप्रवेश, वैवाहिक कार्य, सकाम अनुष्ठान, जप-तप, पूजा-पाठ आदि के लिए अत्यंत शुभ माना गया है। इस दिन दिया गया दान और मिलने वाला पुण्य अक्षय रहता है, अर्थात् वह कभी नष्ट नहीं होता है। आज के दिन जो भी कार्य मनुष्य करता है, वह अक्षय हो जाता है। इसलिए धार्मिक एवं शुभ कार्य आज के दिन जरूर करना चाहिए।


जिस तरह अक्षय तृतीया पर किए जाने वाले पुण्य कार्य का फल निश्चित रूप से व्यक्ति को मिलता है, उसी प्रकार इस दिन किये जाने वाले अनाचार, अत्याचार, दुराचार, धूर्तता आदि के परिणाम से होने वाला पाप कर्मफल भी अक्षुण रहता है। अक्षय तृतीया के दिन किया गया पाप हर जन्म में मनुष्य का पीछा करता रहता है। ऐसे में शास्त्रों में इस दिन जीवात्माओं को अत्यंत ही संयम और सावधानी बरतने के लिए बताया गया है।


























Tags: akshay tritiya ka mahatva, akshay tritiya ke upay in hindi, akshaya tritiya 2019, akshaya tritiya about, akshaya tritiya and gold, akshaya tritiya and marriage, akshaya tritiya celebration, akshaya tritiya festival, akshaya tritiya history, akshaya tritiya this year, akshaya tritiya time, akshaya tritiya upay in hindi, akshaya tritiya wikipedia, date of अक्षय तृतीया, information about अक्षय तृतीया, what is akshaya tritiya in hindi, अक्षय तृतीया ki puja vidhi, अक्षय तृतीया kyu manaya jata hai, अक्षय तृतीया pooja vidhi in hindi, अक्षय तृतीया tips, अक्षय तृतीया upay, अक्षय तृतीया कब है, अक्षय तृतीया कब है 2019, अक्षय तृतीया का पौराणिक महत्व, अक्षय तृतीया का महत्व कथा, अक्षय तृतीया का महत्व क्या है, अक्षय तृतीया की कथा, अक्षय तृतीया के उपाय, अक्षय तृतीया के टोटके, अक्षय तृतीया क्या है, अक्षय तृतीया क्यों मनाई जाती है, अक्षय तृतीया क्यों मनाते हैं, अक्षय तृतीया पर क्या करें, अक्षय तृतीया पर्व का महत्व, अक्षय तृतीया महत्व, अक्षय तृतीया मुहूर्त, अक्षय तृतीया शुभेच्छा





















____
99advice.com provides you with all the articles pertaining to Travel, Astrology, Recipes, Mythology, and many more things. We would like to give you an opportunity to post your content on our website. If you want, contact us for the article posting or guest writing, please approach on our "Contact Us page."
Share To:

Sumegha Bhatnagar

Post A Comment:

0 comments so far,add yours